सरकार ने सिंघु बॉर्डर पर की वैक्सीनेशन की व्यवस्था, किसान नहीं हुए राजी

सोनीपत/ केंद्र सरकार (Central Government) के तीन नए कृषि कानूनों (New Agricultural Laws) के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं (Delhi Borders) पर किसान लगातार विरोध प्रदर्शन में डटे हुए हैं। जिसे देखते हुए सरकार ने वहीं पर वैक्सीनेशन की व्यवस्था शुरू कर दी थी। सोनीपत (Sonipat) के सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर स्वास्थ्य विभाग ने दो जगहों पर कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) लगाने का काम शुरू किया था, ताकि आंदोलन में लगे किसानों को कोरोना से बचाया जा सके। कैंप लगाने वाले डॉक्टर हाथ जोड़कर किसानों से अपील कर रहे हैं कि वे कोरोना वैक्सीन का टीका लगवा लें, लेकिन किसान इनकार कर रहे हैं। जिसके बाद सिंघु बॉर्डर के मेन स्टेज से भी डॉक्टर ने अपील की कि इस महामारी से बचने के लिए सभी किसान कोरोना वैक्सीन का टीका जरूर लगवाएं। लेकिन वैक्सीनेशन से किसान साफ इनकार कर रहे हैं।

डॉक्टर्स के अनुसार, किसान कोरोना वैक्सीन के प्रति जागरूक नहीं दिखाई दे रहे हैं। यहां पर महज नाममात्र के किसान ही कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाने के लिए पहुंच रहे हैं। वहीं आंदोलन कर रहे किसानों का कहना है कि सरकार जानबूझकर ध्यान भटकाने के लिए वैक्सीनेशन को मुद्दा बना रही है। ताकि इसकी आड़ में उनके आंदोलन को समाप्त करवाया जा सके। उन्होंस कहा, जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं होंगी, हम अपना आंदोलन समाप्त नहीं करेंगे.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending