खुशखबरी!! जनता के लिए राहत भरी खबर, महंगाई दर घटकर हुई 5.59 फीसदी

जनता के लिए एक बड़ी राहतभरी खबर सामने आई है। दरअसल, लगातार पांच महीने तक महंगाई दर RBI के दायरे में रही, जिसके बाद यह मई और जून में फीसदी के ऊपरी सीमा को क्रॉस कर गई थी। अब जुलाई में एकबार फिर से यह 6 फीसदी के दायरे में आ चुकी है। जो जनता से लेकर , केंद्रीय बैंक और सरकार सभी को राहत पहुंचाने वाली खबर है।

नेशनल स्टेटिकल ऑफिस (NSO) की तरफ से जारी डेटा के मुताबिक, जुलाई 2020 में खुदरा महंगाई दर 6.73 थी, जबकि जून 2020 में यह 6.26 फीसदी रही थी। अगस्त के पहले सप्ताह में जब रिजर्व बैंक की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी की बैठक हुई थी तब RBI ने बढ़ती महंगाई पर चिंता जताते हुए चालू वित्त वर्ष (2021-22) के लिए महंगाई दर के अनुमान को बढ़ाकर 5.7 फीसदी कर दिया था।

पूर्व में यह अनुमान 5.1 फीसदी लगाया गया था। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने खुदरा महंगाई दर का लक्ष्य 4 फीसदी रखा है। इसमें 2 फीसदी का मार्जिन दिया गया है। इसका मतलब, उच्चतम 6 फीसदी और न्यूनतम 2 फीसदी की महंगाई रिजर्व बैंक के दायरे में आती है। अगर महंगाई दर इस दायरे को क्रॉस करती है तो सरकार और सेंट्रल बैंक दोनों के लिए परेशानी बढ़ जाती है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending