कुंभ मेले में स्नान करने जा रहे हैं “हरिद्वार” तो जान ले ये नियम, वरना पछताएंगे

हरिद्वार महाकुंभ 2021 की तैयारियां जोरों पर है. उत्तराखण्ड की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार कुंभ की तैयारियों को जल्द से जल्द पूरा करने की पूरी कोशिश कर रही है क्योकि कुंभ मेले में शाही स्नान की तिथियों का भी ऐलान हो गया है. कोविड – 19 के मद्देनजर ही मेला प्रशासन द्वारा महाकुंभ मेले में 10 साल से छोटे बच्चों और बुजुर्गों को नहीं आने की अपील की गई है. कोरोना महामारी के बीच कुंभ का आयोजन राज्य सरकार और केंद्र सरकार के लिए भी चुनौती है. ऐसे में आप अगर हरिद्वार में इस बार आयोजित हो रहे महाकुंभ में स्नान करने की योजना बना रहे हैं तो आपको महाकुंभ मेला प्रशासन द्वारा जारी गाइडलाइंस के बारे में जान लेना आवश्यक हैं. तो आइये फटाफट जान लेते हैं कि हरिद्वार कुंभ मेले में स्नान करने के लिए यहां आने वाले लोगों को कोरोना के मद्देनजर किन नियमों का पालन करना होगा.

1.    कोरोना के लक्षण पाए जाने की कुंभ में नो एंट्री – हरिद्वार महाकुंभ में आने वाले किसी भी वयक्ति में अगर कोविड – 19 के लक्ष्ण पाए जाते हैं तो उसे मेले में एंट्री नहीं मिलेगी. ऐसे व्यक्तियों को या तो वापस भेज दिया जाएगा या फिर इलाज हेतु कोविड सेंटर भेजा जाएगा.

2.    एक ही बार स्नान और तीन डुबकी – मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को यहां एक स्नान तीन डुबकी के फार्मूले पर अमल करना होगा. मेले में आने वाले लोगों को ऑनलाइन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना होगा.

3.     पहनना होगा मॉस्क – कोरोना के मद्देनजर मेले में लोगों को मॉस्क लगाना होगा. वहीं अगर कोई व्यक्ति बिना मॉस्क के पाया गया तो  जुर्माना भी लग सकता है.

4.     कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट पर ही लोग मेले में रुक सकेंगे रात – मिल जानकारी के मुताबिक वैसे श्रद्धालु जो मेले में रात प्रवास करना चाहते हैं उन्हें अपना कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना होगा

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending