गजेंद्र शेखावत ने केजरीवाल द्वारा छठ पूजा की अनुमति नहीं दिए जाने पर जताई आपत्ति, कहा – ये दिल्ली के मतदाताओं का अपमान है

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा यमुना नदी के तट पर छठ पूजा की अनुमति नहीं दिए जाने पर तमाम विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने केजरीवाल की जमकर आलोचना की है। इस बीच केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत ने भी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए उन पर दिल्ली के मतदाताओं का अपमान करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा छठ पूजा की अनुमति नहीं देना दिल्ली के मतदाताओं का अपमान करने जैसा है।

गजेंद्र शेखावत ने कहा, “अरविंद केजरीवाल और दिल्ली सरकार दोनों यमुना को साफ करने की अपनी जिम्मेदारी से भाग रहे हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि साफ करने के बजाय वे महिलाओं को छठ नहीं मनाने के लिए कह रहे हैं। केजरीवाल दिल्ली के मतदाताओं का अपमान कर रहे हैं…यह दुर्भाग्यपूर्ण और पीड़ादायक है कि छठ के समय यमुना प्रदूषित है। केजरीवाल लोगों के विश्वास का अपमान कर भाग नहीं सकते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “दिल्ली में यमुना के प्रदूषित होने से छठ मना रहे श्रद्धालुओं को हो रही परेशानी के लिए केजरीवाल सरकार दोषी है। केंद्र सरकार ने अपनी सभी जिम्मेदारियों को पूरा किया। समय पर फंड रिलीज किए लेकिन दिल्ली की सरकार जनता से किए अपने वादे से मुकरने के बहाने ढूंढ़ती रही। एनजीटी के आदेश की अवहेलना की। नतीजा सबके सामने है। केजरीवाल जी, आरोपों की राजनीति के बजाय यमुना सफाई परियोजना पर ध्यान लगाएं, जिससे आनेवाले वर्षों में छठ व्रतियों को कष्ट न झेलना पड़े।”

वहीं केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी कहा कि दिल्ली सरकार को छठ के लिए उचित प्रबंधन करना चाहिए। उन्होंने कहा, “दिल्ली की सरकार छलावा न करें, अगर दिल से सनातन धर्म को मानते हैं तो दिल से मानें और घाट पर पूरी व्यवस्था करें। जो दुर्दशा यमुना नदी की है वो छठ व्रती ही कल शाम में झेलेंगे।” बता दें छठ पूजा की अनुमति देने से दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने इनकार किया है, जो उपराज्यपाल के अंदर आता है। हालांकि 29 अक्टूबर को अपने आदेश में डीडीएमए ने यमुना के तट को छोड़कर ‘निर्दिष्ट स्थानों’ पर छठ पूजा की अनुमति दी थी।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending