FATF ने इमरान सरकार को फिर दिया झटका, अभी “ग्रे” लिस्ट में ही रहेगा पाकिस्तान

पड़ोसी देश पाकिस्तान को अपने किए की सजा मिल रही है. दरअसल, पाकिस्तान द्वारा आतंकवादियों को पालने पोषणों और उन्हें संरक्षण देने की आदत के कारण फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स ने पाकिस्तान को अपनी ग्रे लिस्ट ही बनाए रखने का फैसला लिया है. 

\FATF  ने पाकिस्तान को लेकर आज ये फैसला पेरिस में आयोजित अपनी ऑनलाइन बैठक में लिया. वहीं FATF के इस फैसले से पाकिस्तान को एक बार फिर झटका लगा है.

FATF ने पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में बनाए रखने के अपने फैसले के बाद एक बयान जारी किया जिसमें कहा गया कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ एजेंडे को पूरा करने में विफल रहा है. इसके साथ ही बयान में इस बात को भी कहा गया है कि पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित घोषित आतंकवादियों के खिलाफ भी कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर पाया है .

FATF  ने कहा कि पाकिस्तान आज तक 27 एक्शन प्लान में से एक पर भी कार्य नहीं कर पाया है और इसके लिए उसे दी गई मियाद भी समाप्त हो चुकी है.

इसके साथ ही FATF ने पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट से बाहर निकलने के लिए जून 2021 तक का समय दिया है और कहा है कि वो इस समय सीमा तक सभी एक्शन प्लान पर कार्य करे वरना उसे इसी लिस्ट में रहना होगा.  

आपको बता दे कि पाकिस्तान जून 2018 से ही फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स यानि FATF की ग्रे लिस्ट में बना हुआ है. पाकिस्तान के FATF के ग्रे लिस्ट में बने रहने के कारण पाकिस्तान को अंतराष्ट्रीय संस्थाओं से कोई आर्थिक मदद नहीं मिल पा रही है.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending