किसानों ने बताया, आखिर क्यों कम हो रही हैं दिल्ली के बार्डरों पर किसानों की संख्या ?

दिल्ली के तमाम बॉर्डर पर किसान आंदोलन लगभग 3 महीनों से जारी है. सरकार और किसानों के बीच 10 बार से अधिक बैठक हो चुकी है पर इसका अभी तक कोई हल नहीं निकला है.

कृषि कानून को लेकर सरकार और किसानों के बीच बात कब बनेगी इसका जवाब फिलहाल किसी के पास नहीं है.

इसी बीच  दिल्ली के गाजीपुर और सिंघु बॉर्डर पर किसानों की संख्या अब कम होने लगी है या यूं कहें कि आधी हो गई है. इसके पीछे का कारण क्या है इसके बारे में किसानों ने ही बताया है. इसके बारे में जब किसानों से पूछा जा रहा है तो उनका कहना है कि किसान आंदोलन अभी और लंबा चलेगा और यह आजीविका की लड़ाई है ऐसे खत्म नहीं होने वाली.

download 3 3

किसानों की घटती संख्या को लेकर किसान नेता कहते हैं कि बॉर्डर पर किसानों की संख्या में कमी किसान आंदोलन की रणनीति का एक हिस्सा है जो आंदोलन को और मजबूत और इसका विस्तार और अधिक करने के लिए बनाई गई.

इसके अलावा किसानों का कहना है कि किसान आंदोलन को और राज्यों में मजबूत करने पर जोर दिया जा रहा है.

गौरतलब है किसान भी पूरी तरह से आंदोलन को वापस करवाने के लिए जोर लगा रहे हैं और उनका कहना है कि जब तक तीन कृषि कानून को वापस नहीं लिया जाता वह अपने घरों को नहीं लौटेंगे.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending