61 ब्राह्मणों से हवन करा कर पकड़ा दिया नकली नोट गजब का मामला

सीतापुर. मामला सीतापुर का है जहां आश्रम से 20 लाख के नकली करेंसी को बरामद किया गया है। इस आश्रम में भगवान श्रीराम जी की नगरी अयोध्या से आए पुरोहितों से धन प्राप्ति और रुपयों को दोगुना करने के लिए गीता पाठक (आश्रम की संचालिका) अनुष्ठान करा रही थी। इस मामले का खुलासा तब हुआ जब पुरोहितों को भोजन कराने के बाद दक्षिणा भेंट की गयी।

दक्षिणा में दिए हुए सभी रुपए नकली निकले, जिसके बाद नाराज़ पुरोहितों ने हंगामा शुरू कर दिया। यह सब देख आश्रम की संचालिका गीता पाठक वहां से फरार हो गई। सुचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने गीता पाठक के आश्रम से करीब 20 लाख नकली रुपए बरामद किए।

पुरे मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने गीता पाठक पर केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है। पूरा मामला जिला सीतापुर के अंतर्गत रामपुर मथुरा थाना इलाके का है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बरामद करेंसी में सभी रूपये नकली है, ये बच्चों के खेलने वाली सभी नोट है। इन नोटों पर भारतीय मनोरंजन बैक लिखा हुआ है।

धन प्राप्ति के लिए अनुष्ठान

जनपद सीतापुर के रामपुर मथुरा थाना क्षेत्र के टेरवा मनिकापुर गांव में पिछले 70 दिनों से गीता पाठक द्वारा अनुष्ठान कराया जा रहा था। इस अनुष्ठान में 61 पुरोहित शामिल थे। जब इन पुरोहितों ने पैसे की मांग की तो उन्हें गीता पाठक ने पैसों से भरता बैग दिया। लेकिन इस बैग में ऊपर असली और नीचे सब नकली नॉट थे। यह देखकर वो सभी दंग रह गए।

तांत्रिक गीता हुई फरार

अनुष्ठान में सम्मिलित पुरोहितों ने जब गीता से बात करना चाहा तो उसने कुल्हाड़ी लेकर डराने धमकाने लगी। और देखते ही देखते वहां से फरार हो गयी। सुचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने नकली पैसों को अपने कब्जे में ले लिया है और महिला की तलाश शुरू कर दी है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending