नंदीग्राम पर टिकी सबकी नजरें

पश्चिम बंगाल में 1 अप्रैल यानि कल दूसरे चरण का मतदान होगा. दूसरे फेज के मतदान के लिए चुनाव प्रचार थम गया है और कल अब बंगाल में मतदाता अपने मताधिकारी का प्रयोग करेंगे. पश्चिम बंगाल में इस बार मुकाबला सत्ताधारी टीएमसी और भाजपा के बीच नजर आ रहा है.

पश्चिम बंगाल में पहले चरण का मतदान संपन्न होने के बाद भाजपा ने दावा किया है कि उस पहले फेज में 30 सीटों में से 20 से ज्यादा सीटों पर जीत हासिल होगी. हालांकि टीएमसी ने इसे सिरे से खारिज किया है और कहा है कि भाजपा को रसगुल्ला मिलेगा यानि शून्य सीट. आरोप – प्रत्यारोप का सिलसिला अपने चरम पर है.

पश्चिम बंगाल में दूसरे चरण के मतदान में नंदीग्राम विधानसभा सीट पर होने वाले चुनाव की सबसे ज्यादा चर्चा है क्योकि इस सीट से सीएम ममता बनर्जी जहां चुनाव लड़ रही है तो वहीं भाजपा ने शुभेंदु अधिकारी को अपना उम्मीदवार बनाया है जिनकी गिनती एक समय में सीएम ममता बनर्जी के करीबी लोगों में होती थी. नंदीग्राम के संग्राम पर सबकी नजर है.

एक और खुद सीएम इस सीट से चुनाव लड़ रही है तो वहीं खुद को नंदीग्राम की जमीन से जुड़ा हुआ नेता बताने वाले शुभेंदु अधिकारी नंदीग्राम से ममता बनर्जी के लिए बड़ी चुनौती बनकर सामने खड़े है.

नंदीग्राम में जनता किसे चुनेगी ये कहना कठिन है क्योकि एक और जहां सीएम ममता बनर्जी जैसी दिग्गज नेता इस सीट से चुनाव लड़ रही है तो वहीं नंदीग्राम से चुनावी ताल ठोक रहे शुभेंदु अधिकारी इस क्षेत्र में गजब की पकड़ रखते है. वे यहां के लोग और यहां की समस्याओं को अच्छी तरह समझते है और यही कारण है ममता बनर्जी के यहां से आसानी से जीत जाने की बात पर कोई अभी मुहर नहीं लगाया जा सकता.

ममता बनर्जी और शुभेंदु अधिकारी दोनो की ही रैलियों में गजब की भीड़ जीत का अंदाजा लगाने वाले के सारे आकलन को गलत साबित कर रही है और यहां जीत का सेहरा किसके सिर बंधेगा ये कहना कठिन है.  सबको इंतजार है 2 मई का जब साफ हो जाएगा की नंदीग्राम के चुनावी संग्राम में कौन विजेता कौन है. 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending