नवरात्रि में फास्टिंग के साथ भी आप रख सकते है अपने इम्यूनिट को बहुत ही मजबूत, खांए बस ये फूड और रखे कोरोना को कोसो दूर

अगर आप नवरात्रि का फास्‍ट रख रहे हैं और आप अपने इम्युनिटी को बुस्ट करना चाहते है ताकि आपको कोरोना या कोई भी बीमारी छू न सके तो खाने में शामिल करे बस इन चीजों को –


एक तरफ नवरात्रि पर्व चल रहा और दूसरी तरफ कोरोना जैसी महामारी पूरी दुनिया में आतंक मचा रखा है । देश में कोरोना मरीजों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रहा है।ऐसे में हर कोई बस एक ही बात कह रहा की सब अपने इम्युन को बहुत ही मजबूत रखे ताकि कोरोना से लड़ सके और इम्युन को मजबूत रखने का एक ही उपाय है खूब खाओ और इम्युन को बढ़ाओ ।लेकिन इन सबके बीच हम नवरात्रि को कैसे भूल सकते है नवरात्रि पर्व जो की 9 दिनों की होती है ।बहुत ऐसे लोग होते है जो नवरात्रि में 9 दिनों का फास्ट रखते है और देवी दुर्गा की पूजा और अर्चना करते है लेकिन नवरात्रि में 9 दिनों की फास्‍टिंग के दौरान आपके पास कुछ ही ऐसी चीजें होती हैं जिनका आप सेवन कर सकते हैं। ऐसे दौर में जब पूरी दुनिया वायरस के चपेट में हो तो हमें कोशिश करनी होगी कि हम कुछ ऐसा खाएं जिससे हमारे शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़े और नवरात्रि जैसे पवित्र पर्व में भी कोई अर्चन न आए।
आइए एक नजर नवरात्रि के डाइट में क्या क्या चीजों को शामिल करें

नवरात्रि में खाएं सिंघाड़ा का आटा
सिंघाड़ा को गुणों का खजाना बताया गया है। व्रत में सिंघाड़े के आटे की पूड़ियां और हलवा खूब खाया जाता है। इसमें विटमिन ए, बी और सी भरपूर मात्रा में होता है। यह खनिज लवण और कार्बोहाइड्रेट के गुणों से भी भरपूर होता है।

मखाना व्रत मे जरूर खांये
मखाना में कई तरह के पोषक तत्वों से पाये जाते है । मखाना खाने से फायदा ये भी होता है की ये पेट को लंबे समय तक भरे रखता है। मखाने आपको दिनभर के लिए पर्याप्त ऊर्जा देंगे और इसमें जीरो कैलोरी होती है।

व्रत में साबूदाना के फायदे
साबूदाने का प्रयोग व्रत के आहार में आप जरूर करे इससे आपको बहुत सारे फायदे देखने को मिलेंगे। साबूदाना में कार्बोहाइड्रेट प्रचुर मात्रा में मौजूद होती है। साथ हीं इसमें कैल्शियम और विटामिन सी भी होते हैं। साबुदाना पकने के बाद हल्का स्पंजी और नर्म हो जाता है।
उपवास के दौरान कई तरह से इसका सेवन कर सकते हैं, जैसे साबूदाने की खीर, पूरी, पापड़, खिचड़ी इत्यादि।
फलों का सेवन व्रत में करे व्रत के दौरान ज्यादा से ज्यादा फलों का सेवन करना चाहिए लेकिन इस बात का खास
ख्याल रखें कि आप जिस भी फल का सेवन करें, वो ताजे होने चाहिए। । अलग-अलग तरह के फलों में एंटीऑक्सीडेंट्स, मिनरल इत्यादि की मात्रा ज्यादा पाई जाती है। उपवास के दौरान आप फलों का सेवन कई तरह से कर सकते है जैसे फलों को एक साथ मिलाकर फ्रूट चार्ट भी बनाकर खा सकते हैं। फलों को आप कच्चा भी खा सकते हैं या फलों का जूस या रायता इत्यादि बनाकर भी आप सेवन कर सकते है। दही व्रत में फायदेमंद साबित होता है
उपवास के दौरान दही का सेवन काफी फायदेमंद साबित होता है। दूध की अपेक्षा दही में कैल्शियम की मात्रा ज्यादा होती है। दही में मौजूद बैक्टीरिया शरीर के लिए एंटीबायोटिक का काम करते हैं। दही में लेक्टोज, प्रोटीन, लोहा, कैल्शियम, फास्फोरस इत्यादि कई तरह के विटामिंस मौजूद होते हैं। इसलिए दही को ज्यादा पौष्टिक आहार माना गया है। व्रत के दौरान दही को कई तरह से खाया जा सकता है फल और फलाहार में भी दही मिलाकर खा
सकते है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending