शर्मनाक!! हिंदू युवक से हुआ प्यार तो कट्टरपंथियो को नहीं आया रास, मुस्लिम युवती का सिर मुंडावकर पूरे गांव-घरों में घुमाया

यूं तो देश भर में हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई भाई भाई के नारे उछाले जाते है। सामुदायिक सद्भाव और गंगा जमुनी तहजीब की बड़ी बड़ी मिशाले पेश की जाती है। लेकिन इसकी हकीकत जानकर आपकी रूह भी कांप उठेगी। ऐसा ही एक मामला यूपी के बाराबंकी (Barabanki) का है,

यहां एक दलित युवक और मुस्लिम युवती का प्यार मज़हबी कट्टरपंथियों को रास नहीं आया और मौलवियो ने युवती के खिलाफ फतवा जारी कर उसे मारने पर इनाम घोषित कर दिया। इतना ही नहीं कट्टरपंथी युवती का सिर मुंडवाकर गांव में घुमा ही रहे थे कि मौके पर पहुंचकर पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में ले लिया।

पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने लड़की पक्ष से रिज़वान समेत 8 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल, पूरा मामला उत्तर प्रदेश के बाराबंकी (Barabanki) के फतेहपुर थाना क्षेत्र के ररिया गांव का है।

मामले की जानकारी देते हुए एसपी यमुना प्रसाद ने बताया कि लड़की की तहरीर पर उसके चाचा रिज़वान, नूर आलम, मोहम्मद सब्बीर, समी, नजीरा, शब्बीर की पत्नी नाम अज्ञात, सबनम, मोहम्मद यूनुस के खिलाफ धारा 147, 323, 504, 506, 354, 355, 188, 269, 270, महामारी अधिनियम 3, आपराधिक कानून अधिनियम 7 की धारा में मुकदमा दर्ज कर रिजवान, सिद्दीक और नूर आलम को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, यूपी के बारंबकी के फतेहपुर थाना क्षेत्र के ररिया गांव के हिंदू युवक और मुस्लिम युवती के बीच प्रेम प्रसंग का मामला चल रहा था। लड़की के माता पिता न होने के चलते, वह अपनी दादी के यहां पर रहती थी। वहीं लड़के के भी माता पिता न होने के चलते वह गांव में जर्जर आवास पर रहकर मेहनत मजदूरी करता था। दोनों के बालिग होने के चलते गांव में स्थित एक धार्मिक स्थल पर शादी कर ली।

वहीं शादी के बाद युवती अपने प्रेमी पति के साथ जहां वह रहता था वहीं रहने चली गई। उधर इसकी जानकारी जब लड़की के घरवालों और रिश्तेदारों को हुई, तो वह आक्रोषित हो उठे। चाचा रिज़वान आदि ने घर में पंचायत की और सोमवार को मोहम्मद पुरखाला में रहने वाले युवती के ताऊ यहां पहुंचे।

इसके बाद परिवार के अन्य सदस्य चाचा रिजवान सहित मो. सिद्दीक और नूर आलम सहित करीब दस लोगों ने पहले युवती को बुलाया, जिसकी पिटाई की और जबरन उसके बाल मुंडा डाले। युवती को गांव में बिना बाल के घुमाने की तैयारी थी, लेकिन इसी बीच सूचना पर निरीक्षक संजय मौर्या टीम के साथ पहुंचे और युवती को कब्जे में लेकर मौके से रिजवान, सिद्दीक और नूर आलम को पकड़ लिया, जबकि अन्य फरार हो गए।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending