किफायती प्रोस्थेटिक लेग विकसित

नवनीत कुमार गुप्ता
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गुवाहाटी के शोधकर्ताओं ने भारतीय परिस्थितियों के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन किया गया एक कृत्रिम पैर विकसित किया है। यह असमान इलाके के लिए उपयुक्त है और क्रॉस लेग्ड सिटिंग और डीप स्क्वाटिंग जैसी भारतीय जरूरतों पर खरा उतरता है। इसे विभिन्न आयु समूहों के लिए समायोजित किया जा सकता है। इस शोध को शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार और जैव प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार द्वारा वित्त पोषित किया गया था।

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गुवाहाटी के शोधकर्ताओं ने 151 आर्मी बेस अस्पताल, गुवाहाटी, तोलाराम बाफना कामरूप जिला सिविल अस्पताल, गुवाहाटी, गुवाहाटी न्यूरोलॉजिकल रिसर्च सेंटर (GNRC), उत्तरी गुवाहाटी और उत्तर पूर्वी इंदिरा गांधी क्षेत्रीय स्वास्थ्य और चिकित्सा विज्ञान संस्थान (NEIGHRIMS), शिलांग के साथ इस शोध में सहयोग किया है।

भारत में कृत्रिम अंग के विकास को कई चुनौतियों का सामना करता है। दिव्यांगों के लिए अत्यधिक कार्यात्मक गतिशीलता के लिए उन्नत सुविधाओं वाले उपकरणों की आवश्यकता होती है। इसके अलावा ऐसे उपकरण महंगे होने के कारण कई लोगों द्वारा उपयोग नहीं किए जा सकते हैं।

इसके अलावा, बाजार में उपलब्ध किफायती प्रोस्थेटिक्स की कई कार्यात्मक सीमाएं भी हैं। इसके अलावा, भारतीय जीवन शैली और असमान इलाके में भारत के लिए विशिष्ट विशिष्टताओं के साथ प्रोस्थेटिक्स की आवश्यकता होती है। इनके अनुरूप उपकरण बाजार में व्यापक रूप से उपलब्ध नहीं हैं।

आईआईटी गुवाहाटी के मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के प्रो. एस. कनगराज के नेतृत्व में एक टीम ने इन मुद्दों से निपटने के लिए शोध कार्य किया। इस शोध दल द्वारा विकसित उनके मॉडल के प्रोटोटाइप का वर्तमान में परीक्षण चल रहा है।

अपने शोध के प्रमुख क्षेत्रों पर प्रकाश डालते हुए, आईआईटी गुवाहाटी के मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के प्रो. एस. कनगराज ने कहा, “हमारी टीम द्वारा विकसित घुटने के जोड़ में एक स्प्रिंग असिस्टेड डीप स्क्वाट तंत्र है, जो भारतीय शौचालय प्रणाली का अधिक आराम से उपयोग करने में मदद करता है। इसके अलावा घुटने को घुमाने की क्रियाविधि क्रॉस लेग्ड बैठने में मदद करती है। लॉकिंग प्रणाली अज्ञात इलाके में चलते समय रोगियों के गिरने के डर को कम करने में मदद करता है। घुटने में समायोज्य लिंक लंबाई, रोगियों की उम्र और आवश्यकता के आधार पर या तो अधिक स्थिरता या आसान फ्लेक्सिंग में मदद करती है। कुल मिलाकर, घुटने के इस जोड़ को भारतीय जीवन शैली को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है जिसे अन्य उत्पाद पूरा करने में विफल रहते हैं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending