रोज सुबह करें इसका सेवन, वजन के साथ साथ कई अन्य बिमारियों से पाएंगे निजात, जानिए इसके फायदे और पीने का सही तरीका

सौंफ कई औषधीय गुणों से भरपूर होती है इसके छोटे-छोटे सौंफ के दाने हमारी सेहत को नुकसान पहुंचाने से बचा सकते हैं। यह कोलिक से कंजंक्टिवाइटिस तक हर तरह की बीमारी दूर करने में मददगार होता है। इतना ही नहीं सौंफ का उपयोग स्टैमिना को बढ़ाने के लिए भी किया जाता है और नवजात शिशु को अपना दूध पिलाने वाली मां भी सौंफ का इस्तेमाल करती हैं ताकि ब्रेस्ट मिल्क के उत्पादन को बढ़ाया जा सके।

लेकिन सिर्फ सौंफ के बजाए अगर आप सौंफ के पानी का सेवन करें तो यह ज्यादा फायदेमंद हो सकता है क्योंकि सौंफ के पानी में न्यूट्रिएंट्स यानी पोषक तत्वों की मात्रा अधिक होती है। यह वजन घटाने से लेकर बदहजमी, ऐसिडिटी, पेट में गैस, जी मिचलाना और उल्टी की समस्या और पीरियड्स के दौरान क्रैम्प्स की समस्या को दूर करने में रामबाण की तरह काम करता है। 

सौंफ मे पाएं जाते हैं ढेर सारे पोषक तत्व
सौंफ में विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है और इसमें जरूरी मिनरल्स जैसे कैल्शियम, सोडियम, आयरन और पोटेशियम भी पाए जाते हैं, जो आपकी हेल्थ को बढ़ावा देने के लिए कारगर है। ये बहुत आसान तरीके हैं जिनकी मदद से आप अपना वजन भी कम कर सकते है साथ साथ कई अन्य गंभीर बीमारियों से भी अपना बचाव कर सकते हैं।

सौंफ का पानी पीने के अचूक फायदे:

बदहजमी से बचाता है
सौंफ की तासीर ठंडी होती है और जब उसे रातभर पानी में भिगोकर रखा जाता है तो सौंफ का यह पानी पेट को ठंडक देकर बदहजमी और पेट से जुड़ी बाकी समस्याओं को भी दूर करने में मदद करता है।

वजन घटाने में सहायक
सौंफ का पानी मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है जिससे आपका शरीर अधिक फैट को बर्न करने में सक्षम होता है और पोषक तत्वों के अवशोषण में सुधार करके फैट के भंडारण को कम करता है। 

पीरियड्स में क्रैम्प्स रोकने में मददगार
सौंफ का पानी गर्भाशय (यूट्रस) को संकुचित होने से रोकता है। सौंफ के पानी में एस्ट्रोजेन भी होता है जो दर्द और क्रैम्प्स को कम करने के साथ ही मासिक धर्म चक्र की लंबाई को छोटा करता है और पीरियड्स से संबंधित उल्टी और जी मिचलाने की समस्या को भी दूर करता है।

ब्लड शुगर नियंत्रित करता है
ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए सौंफ का पानी मददगार साबित हो सकता है। एक अध्ययन, में मेन्थॉलयुक्त सौंफ के बीज से बने पानी के साथ चूहों का इलाज किया गया जिसमें पाया गया कि एक निश्चित खुराक स्तर पर, सौंफ के पानी के इस अर्क ने स्टैंडर्ड एंटीहाइपरग्लाइसिमिक दवाओं की तुलना में ब्लड शुगर के स्तर को कम कर दिया।

खून साफ करने में कारगार
सौंफ का पानी डाइयूरेटिक यानी मूत्रवर्धक होता है और साथ ही इसमें फाइबर की भी अच्छी खासी मात्रा पायी जाती है जिस कारण यह शरीर में जमा टॉक्सिन्स और अशुद्धताओं को बाहर निकाल कर शरीर को अंदर से साफ करने में मदद करता है। इस तरह से सौंफ का पानी पीने से आपका खून भी साफ हो जाता है।

सौंफ का सेवन किस प्रकार से करें ?
सौंफ को रात भर पानी में भिगोकर
रात में 1 चम्मच सौंफ को एक लिटर पानी में डालकर रख दें। सुबह उठकर इस पानी का सेवन कर लें। रोजाना अगर आप ऐसा करते हैं, तो कुछ ही समय बाद वजन भी कम होने लगता है।

पानी में उबालकर
अगर आप रोजाना सौंफ भिगोकर पीने का काम नहीं कर पाते हैं, तो आप 2 चम्मच सौंफ को 1 लिटर पानी में डालकर उबाल लें। जब सौंप का अर्क पानी में उतर जाये तो उसे ठंडा करके फ्रीज में रख लें। इसे आप सुबह उठने के बाद या रात में सोने से पहले सेवन कर सकते हैं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending