जरूरत से ज्यादा पानी पीने से फायदे की जगह हो सकते हैं ये भारी नुकसान

अकसर सभी को ये कहते हुए सुना जाता है पानी पीना सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है।  ज्यादा पानी पीकर कई बीमारियों को शरीर से दूर रखा जा सकता है। यही नहीं शरीर में पानी की कमी हो जाए, तो डिहाइड्रेशन, किडनी फेल होना, मूत्र में जलन और किडनी में पथरी जैसी गंभीर परेशानियां पैदा हो सकती हैं। इसलिए सभी के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना बहुत जरूरी है।

इसलिए बहुत से ऐसे लोग जिन्होंने अपने मन में ये धारणाएं बनाई हुई है कि ज्यादा पानी से कई फायदे होंगे, तो यहां आप थोड़ा गलत साबित हो सकते हैं। जी हां हद से ज्यादा पानी पीने से शरीर को फायदे होने के बजाए कई तरह के नुकसान हो सकते हैं। दरअसल ज्यादा पानी पीने से इलेक्ट्रोलाइट इंबैलेंस या लो सोडियम यानी शरीर में सोडियम की कमी जैसी समस्या हो सकती है।

वहीं पानी का अधिक सेवन कर लेने से उल्टी, सिर दर्द और मतली आदि शामिल हैं। कहा जाता है एक स्वस्थ व्यक्ति को प्रतिदिन 8-10 गिलास पानी पीना चाहिए, लेकिन विशेषज्ञ का कहना है आपको जितनी प्यास हो, उतना ही पानी पिएं। आइए जानते हैं ज्यादा पानी पीने से होने वाली हानि।

-किडनी पर बुरा असर 

बहुत ज्यादा पानी पीने से  उसका सीधा असर किडनी पर पड़ता है। आपको बता दें, किडनी का काम पानी को फिल्टर करने अपशिष्ट नमक और जहरीले तत्वों को मूत्र के जरिए शरीर से बाहर निकालने का होता है। मगर ज्यादा पानी पीने से इसका सीधा असर किडनियों पर पड़ता है। ऐसी स्थिति में किडनी फेल का खतरा हो सकता है। इसलिए जितनी प्यास हो उतना ही पानी पिएं। 

-मस्तिष्क पर असर 

ज्यादा पानी पीने से बॉडी में सोडियम का लेवल कम हो जाता है जिससे की ब्रेन सेल्स में सूजन की परेशानी हो जाती है। ऐसे में चलने-फिरने, बात करने और भ्रम की स्थिति की सामना करना पड़ सकता है। इसलिए पानी का सेवन हमेशा पर्याप्त मात्रा में करें।  

-मांसपेशियों में ऐंठन

पानी का अधिक सेवन करने से जाहिर है शरीर में सोडियम की कमी हो जाती है और बॉडी में ये कमी होना मतलब मांसपेशियों में कमजोरी और ऐंठन होना तय है। इसके जरूरत से ज्यादा पानी पीने से शरीर के इलेक्ट्रोलाइट का संतुलन चला जाता है, जिससे थकान और सुस्ती की परेशानी से जूझना पड़ता है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending