भारत के आगे नहीं गली ड्रेगन की दाल, पूर्वी लद्दाख में तेजी से पीछे हट रहा चीन

चालबाज चीन को एक बात तो काफी अच्छे तरीके से समझ में आ गई है कि उसकी दादागिरी भारत के सामने नहीं चलने वाली. भले ही वो दुनिया के दूसरे देशों को डरा धमकाकर अपनी बात मनवा सकता है पर भारत को नहीं.

भारत द्वारा चीन को उसी भाषा में जवाब दिया जाता रहा है और इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ है. अब जैसा कि लद्दाख की पेंसिल से भारत और चीन की सेना ने पीछे लेने पर दोनों देशों में सहमति बन गई है तो चीन ने अपना बोरिया बिस्तर समेटना शुरू कर दिया है.

समझोते के अनुसार दोनो देश की सेनाएं लगातार पिछे हट रही है और सुरक्षा मामले के जानकारों का कहना है कि दोनो और से ये प्रक्रिया एक हफ्ते में पूरी हो जाएगी.

अब बात अगर करें कि दोनों देशों के बीच समझौता क्या हुआ है दोनों दोनों देशों के बीच समझौता इस बात को लेकर हुआ है चीन की पीपुल्स आर्मी फिंगर 8 को छोड़ेगी. वहीं भारत भी धान सिंह थापा पोस्ट पर फिंगर 2 और तीन से पीछे जाएगा.

6711e7ef48d765302c37cb6635fe88ed2943412794dec882732a14432b16e4b2 1

आपको बता दें कि पिछले साल पहले ने यहां कब्जा कर रखा था. लेकिन अब समझौते के बाद चीन की चाल बदल गई है और चीनी यहां अपने बने सेंटर तेजी से हटा रहा है.

भारत और चीन के बीच हुए समझौते में भारत ने कुछ शर्त भी रखी है. भारत ने चीन से साफ कह दिया है कि अगर फिंगर 5 खाली नहीं हुआ तो समझौता नहीं हो सकता तो. वहीं चीन ने भारत के इस शर्त पर 30 सैनिकों को फिंगर 5 पर रखने की मांग की थी पर भारत की और से इसे सिरे से खारिज कर दिया गया.

मिली जानकारी के मुताबिक जब ड्रेगन फिंगर आठ से पूरी तरह वापस होने को राजी हुआ तब ही भारत ने फिंगर 3 से अपनी सेना वापस लेने की बात पर रजामंद जताई.

आपको बता दे कि फिलहाल दोनों देशों के बीच समझौता हो जाने के बाद चीन की सेना लगातार पीछे हट रही है और पूर्वी लद्दाख में चीन की सीमा पर भारत और चीन के बीच विवाद और तनाव दोनों ही कम होता नजर आ रहा है.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending