क्या सच में पीएम मोदी अपने खाने पर 100 करोड़ रुपये खर्च करते है, जानिए वायरल दावे का सच

इन दिनों सोशल मीडिया पर पीएम मोदी से जुड़ा एक दावा जमकर वायरल हो रहा है। जिसमे दावा किया जा रहा है की पीएम मोदी अपने किचन का खर्च खुद वहन करते हैं। उसका बोझ सरकारी खजाने पर नहीं पड़ता। दावे के मुताबिक, पीएम मोदी सात साल में अपने खाने पर 100 करोड़ रुपये खर्च करते है। जबकि हमारी पड़ताल में यह दावा झूठा साबित हुआ है। आरटीआई के तहत ऐसी कोई जानकारी सामने नहीं आई है, जिससे साफ होता है की वायरल हो रहा पोस्ट फर्जी है।

क्या है वायरल हो रहा दावा
12 जून 2021 को फेसबुक यूजर राजीव कुमार ने अपने एक पोस्ट मे लिखा, ‘बताओ मंहगाई इतनी बढ़ गई हैं एक आदमी 7 साल में अकेले 100 करोड़ का खाना खा गया। पते नहीं चला।’ राजीव कुमार के इस पोस्ट के बाद बहुत से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर यह पोस्ट जमकर वायरल होने लगा। फेसबुक से लेकर ट्विटर तक पीएम मोदी पर यह फर्जी दावा ढेरों यूजर शेयर कर चुके है।
वायरल दावे की सच्चाई
पीएम मोदी के बारे में अगर आरटीआई से कोई जानकारी पब्लिक डोमेन में आती है, तो वह मेनमीडिया कवरेज का हिस्सा जरूर बनती है। हमें ओपन सर्च रिजल्ट्स में ऐसी कोई प्रामाणिक रिपोर्ट नहीं मिली, जिससे इस दावे की पुष्टि होती हो कि पीएम मोदी के खाने पर 7 साल में 100 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं।
बता दें कि ऐसी ही एक फर्जी आरटीआई की रिर्पोट 2015 में अपलोड की गई है, जिसमें पीएम मोदी के किचन से संबंधित खर्च की जानकारी मांगी गई है। इसका जवाब देते हुए बताया गया है कि पीएम मोदी अपने किचन का खर्च स्वयं वहन करते हैं और यह सरकारी खाते में दर्ज नहीं होता यानी पीएम मोदी के खानपान में आने वाला खर्च उनके निजी खर्च के दायरे में आता है न कि भारत सरकार के खर्च के दायरे में। 
गौरतलब हो कि सूचना के अधिकार अधिनियम के सेक्शन 8 में वैसी स्थितियां दी गई हैं, जिसमें सूचना देने से छूट का प्रावधान है। इसके मुताबिक ऐसी सूचना, जो व्यक्तिगत सूचना से संबंधित है और जिसके देने से सार्वजनिक हित प्रकट नहीं होता या जिसके देने से किसी व्यक्ति की निजता का उल्लंघन होता है, वैसी स्थिति में सूचना देने से छूट का प्रावधान है। आरटीआई के बारे में विस्तार से जानने के लिए सेंट्रल इन्फॉर्मेशन कमीशन की साइट पर दी गई जानकारी को यहां क्लिक कर पढ़ा जा सकता है।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में पीएम मोदी के खाने पर होने वाले खर्च को लेकर वायरल किया जा रहा दावा झूठा निकला है। पीएम मोदी अपने किचन का खर्च खुद वहन करते हैं। उसका बोझ सरकारी खजाने पर नहीं पड़ता। ऐसी कोई आरटीआई से जानकारी सामने नहीं आई है, जैसा वायरल पोस्ट में दावा किया जा रहा है।
CLAIM REVIEW : 7 साल में पीएम मोदी के खाने पर 100 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं।
CLAIMED BY : फेसबुक यूजर राजीव कुमार
FACT CHECK : False

किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमसे संपर्क करें

अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं।
वॅाट्सऐप नंबर/ टेलीग्राम नंबर+919810553618ईमेलV3newsindia@gmail.comआप हमसे हमारे ईमेल आईडी V3newsindia@gmail.com या फिर वॅाट्सऐप / टेलीग्राम नंबर +919810553618 के जरिए संपर्क कर सकते हैं। किसी भी सुझाव या शिकायत के लिए V3newsindia@gmail.com पर ईमेल भेजें।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending