क्या पैसों से भी फैलता है कोरोना वायरस? जानिए विशेषज्ञों की राय

पिछले दिनों कोरोना वायरस ने देश विदेश में इतनी दहशत फैला दी है की अब हर शख्स के अंदर कोरोना संक्रमण को लेकर एक डर बैठ गया है। लोग अपने परिजनों, मां, भाई, बहन, यहां तक कि बाप के अंतिम संस्कार में शामिल होने से डरने लगे है। आलम यह है की लोग अपने ही रिश्तों का गला घोट कॉविड संक्रमण लाशों को सड़ने के लिए अस्पतालो के बाहर फेंक के जा रहे है। इस बीच अब लोग कोविड संक्रमण के भय से किसी वस्तु या फिर किसी दूसरे व्यक्ति द्वारा दिए गए पैसों को छुने से भी डरने लगे है। लेकिन पैसे की तंगातगी को देखते हुए वह पैसों के लेनदेन के बीच अब पैसों को भी सैनेटाइज करने लगे गए है। मगर क्या वाकई पैसों से भी कोरोना का संक्रमण फैल सकता है??? क्या कोरोना फैलाने की एक वजह पैसे भी है???

कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (Confederation of All India Traders) अर्थात कैट ने स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से पूछा था कि क्या करेंसी नोट से भी कोरोना वायरस फैलता है? मगर अब तक इसका कोई जवाब नहीं मिला है। दरअसल, कैट के अनुसार करेंसी नोट कई लोगों के हाथों से होकर गुजरता है। इसकी वजह से संक्रमण के फैलने का खतरा अधिक है।मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कई रिसर्च में में साबित हुआ है कि करेंसी नोटों के द्वारा भी संक्रमण फैल सकता है। बल्कि नोटों के जरिए कोरोना संक्रमण तेजी से फैलता है, क्योंकि नोटों की सतह सूखी होने के कारण किसी भी प्रकार का वायरस या बैक्टीरिया लम्बे समय तक उस पर रह सकता है। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी-लखनऊ, इंटरनेशनल जर्नल ऑफ एडवांस रिसर्च (King George’s Medical University-Lucknow, International Journal of Advanced Research) के में भी यह साबित हो चुका है कि करेंसी नोट के जरिए संक्रमण फैल सकता है। इसलिए कोरोना काल में सावधानी से ही नोटों को इस्तेमाल करने की जरूरत है।

गौरतलब हो कि देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 53,256 मामले सामने आए। इस दौरान 78,190 मरीज ठीक भी हुए और 1422 मरीजों की मौत हुई। नए मरीजों का आंकड़ा बीते 88 दिन में सबसे कम है। देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर का खतरा लगातार कम हो रहा है। अब रोजाना सामने आने वाले पॉजिटिव मामलों में तो कमी आई ही है, साथ में मौतों की संख्या में भी लगातार गिरावट देखी जा रही है। पिछले सात दिनों में कोरोना से होने वाली मौतों में 45 फीसदी की कमी आई है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending