क्या आप जानते है जहर की भी होती है एक्‍सपायरी डेट?? जानिए एक्‍सपायर होने के बाद यह क्या काम करता है

बाजार में उपलब्ध हर सामान की एक्‍सपायरी डेट होती है। फिर चाहे वो दूध, ब्रेड या खाने-पीने का सामान हो या फिर कॉस्मेटिक्स और साबुन-शैंपू की एक्‍सपायरी डेट हो। खाने-पीने की चीज या फिर दवा वगैरह एक्सपायरी डेट के बाद इस्तेमाल करने से जान का खतरा रहता है। यानी एक्सपायरी डेट के बाद ये चीजें जानलेवा हो सकती हैं। लेकिन क्या आपने सोचा है कि जान लेने वाली चीज ही जब एक्सपायर हो जाए तो क्या होगा? सामान्य चीज एक्सपायर होने के बाद जहरीली हो जाती है तो क्या जहर एक्सपायर होने के बाद और ज्यादा जहरीला हो जाएगा? 

आइए जानते हैं जहर के बारे में विस्तार से…
दरअसल दवाओं की तरह जहर भी कई किस्‍म के होते हैं। यह कई तरह के रसायनों का मेल होता है। दवाओं की तरह जहर भी कई तरह के होते हैं, जिनका इस्तेमाल अलग-अलग उद्देश्यों के लिए किया जाता है। ऐसे में दवाओं की तरह उसका भी एक्सपायर होना लाजिमी है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, किसी जहर का एक्सपायर होना (Poison Expiry Date) इस बात पर निर्भर करता है कि वह किन रसायनों से मिलकर बना है।

जहर के कॉम्पानेंट्स में से अगर कोई केमिकल निश्चित समय के बाद निष्क्रिय हो जाता है तो जहर पर भी उसका असर जरूर पड़ता है। यानी ऐसे में एक निश्चित अवधि के बाद जहर भी एक्सपायर हो जाता है। सामान्यत: एक्सपायरी डेट के बाद चीजों के खराब हो जाती हैं या फिर उनका असर खत्म हो जाता है। लेकिन क्या जहर के साथ भी ऐसा संभव है? मतलब क्या जहर के एक्सपायर होने के बाद उसका असर खत्म या कम हो जाता है? या फिर एक्सपायरी डेट (Poison After Expiry Date) के बाद जहर पहले की अपेक्षा और ज्यादा जहरीला बन जाता है?

एक्सपर्ट्स बताते हैं कि यह जहर पर निर्भर करता है कि एक्सपायर होने के बाद वह काम करना बंद कर देगा, पहले जैसा असर नहीं करेगा या फिर और ज्यादा जहरीला हो जाएगा। अगर जहर में मौजूद किसी केमिकल का निश्चित समय बाद असर कम हो जाता है तो हो सकता है कि वह जहर थोड़ा कम जहरीला हो जाए और फिर वह जिस उद्देश्य के लिए है, उसके लिए इसकी डोज ज्यादा करनी पड़ सकती है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending