Diwali 2021: दिवाली के दिन भूलकर भी ना दान करें ये चीज़ें, जीवन भर रह सकते है परेशान

दीपों का यह त्यौहार दीपावली के नाम से हम सबके बीच हर्षोल्लास का माहौल तैयार करता है। दीपावली भारतीय संस्कृति के सबसे रंगीन और विविधता भरे पर्वों में से एक है। इस दिन पूरे भारत में दीयों और रोशनी की अलग छटा देखने को मिलती है। दीपावली एक ऐसा त्यौहार है जिसका बड़े-बूढ़े सभी बेसब्री से इंतजार करते हैं। दीपावली कार्तिक मास की अमावस्या को मनाई जाती है। इस साल दीपावली 04 नवंबर को है। दीपावली को असत्य पर सत्य की और अंधकार पर प्रकाश की विजय के रूप में मनाया जाता है।

दीपावली मर्यादा, सत्य, कर्म और सदभावना का सन्देश देता है। लोगों में दीवाली की बहुत उमंग होती है। लोग अपने घरों का कोना-कोना साफ़ करते हैं, नये कपड़े पहनते हैं। ऐसे में कुछ लोग दान भी देते है जिसे शास्त्रों में दिवाली के दिन दान देना बेहद अशुभ बताया गया है। इसलिए अगर आप भी हर साल दीपावली के दिन दान देते है तो सतर्क हो जाइए वरना जिंदगी भर पछताना पड़ सकता है। ऐसे में चलिए जानते है दिवाली के दिन किन किन चीजों का दान देने से बचना चाहिए।

दिवाली के दिन भूलकर भी दान ना करें ये चीज़ें…

>> दिवाली के दिन नारियल, बादाम आदि चीजों का दान नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह सभी चीजें मां लक्ष्मी का प्रतीक मानी जाती हैं।

>> दिवाली के दिन चावल और दूध से बनी चीजों का दान नहीं करना चाहिए। मान्यता है कि सफेद वस्तुएं मां लक्ष्मी की प्रतीक हैं।

>> कहा जाता है कि दिवाली के दिन किसी को धन का दान नहीं करना चाहिए। इसके बजाए कोई सामान या वस्तु खरीदकर दान की जा सकती है।

>> कहा जाता है कि दिवाली के दिन सरसों के तेल का नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से मां लक्ष्मी रूठ जाती हैं और घर में उनका स्थायी वास नहीं होता है।

>> दिवाली वाले दिन किसी को मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की प्रतिमा या मूर्ति का दान नहीं करना चाहिए। कहते हैं कि ऐसा करने से घर में दरिद्रता आती है।

>> दिवाली के दिन खिचड़ी आदि का दान नहीं करना चाहिए। कहते हैं कि दीपावली के दिन न तो कच्चा खाना खाया जाता है और न ही उसका दान किया जाता है।

>> कहा जाता है कि दिवाली के दिन मां लक्ष्मी और भगवान गणेश के पूजन के बाद प्रसाद को बाहरी लोगों को नहीं बांटना चाहिए और न ही किसी को दान देना चाहिए।

>> कहते हैं कि दिवाली के दिन झाड़ू का दान नहीं करना चाहिए। झाड़ू को मां लक्ष्मी का स्वरूप माना जाता है। दिवाली के दिन झाड़ू का दान करने से मां लक्ष्मी का घर में स्थायी वास नहीं होता है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending