मधुमेह रोगियों को भूलकर भी नहीं करना चाहिए सुबह के नाश्ते में इन चीजों का सेवन

हमारा स्वास्थय ही हमारी सच्ची संपत्ति है और इस मूलमंत्र को हमे हमेशा याद रखना चाहिए. शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सुबह का नाश्ता काफी आवश्यक होता है. कई लोग सुबह के नाश्ते को तरजीह नहीं देते हैं जिससे कई तरह की बीमारियों को बुलावा मिलता है. दरअसल, सुबह का नाश्ता दिनभर का जरूरी भोजन होता है जिसे स्किप करना सही नहीं होता है. सुबह नाश्ता करना शरीर को स्वस्थ रखने का सबसे पहला कदम हैं. बात अगर मधुमेह के रोगियों की करे तो डाबिटिक पेशंटस को सुबह के नाश्ता का अधिक ध्यान रखना पड़ता है क्योकि हैल्थ एक्सपर्टस की माने तो डायबिटिक पेशंटस का डाइट उनके स्वास्थ को प्रभावित करता है. डायबिटिक पेशंटस का नाश्ता ऐसा नहीं होना चाहिए जो उनके ब्लड शुगर कंट्रोल को बढ़ा दे. मधुमेह के रोगियों को अपना ब्लड शुगर कंट्रोल में रखने के लायक नाश्ता करने की आवश्यकता होती है.

तो आइये जानते हैं कि सुबह के नाश्ते में डायबिटिज के पेसेंट्स को किन चिजों को शामिल नहीं करना चाहिए –

1.     फल का जूस – सुबह के नाश्ते में डायबिटिज के पेशंटस को फल के जूस का सेवन करने से बचना चाहिए. फ्रूट्स में नेचुरल सुगर होता है जो डायबिटिज के पेशंटस के लिए नुकसानदेह हो सकता है.

2.     किशमिश – डायबिटिज के पेशंटस को सुबह के नाश्ते में किशमिश के सेवन से बचना चाहिए क्योकि हैल्थ एक्सपर्टस के मुताबिक शुगर की मात्रा अंगूर से भी अधिक होती है. ऐसे में डायबिटिज के पेशंटस को किशमिश के सेवन से बचना चाहिए.

3.      रिफाइंड आटे का ब्रेड – रिफाइंड आटे के ब्रेड से परहेज करना मधुमेह रोगियों के लिए आवश्यक है क्योकि इससे डायबिटिज पेशंटस का ब्लड शुगर बढ़ जाता है.

4.      चाय- सुबह की चाय हर किसी को अच्छी लगता है पर चाय का सेवन मधुमेह रोगियों के लिए नुकसानदे है. कारण हैं चाय में मौजूद शुगर की मात्रा.  

इसके अलावा डायबिटिज के पेशंटस को चाय, काफी, मिठाइया, चॉकलेट, रिफाइंड आटे का ब्रेड, पेस्ट्रीज आदि का भी सेवन सुबह के नाश्ते में या दिन के किसी भी समय करने से बचना चाहिए. इन चिजों का सेवन डायबिटिज के पेशंटस को हानि पहुंचा सकता है. यही कारण हे कि डॉक्टर्स मधुमेह रोगियों को इन चिजों से पहरहेज करने की सलाह देते है.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending