दिल्ली : स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कोरोना योद्धा डॉ. संजीव कुमार के परिजनों को सौंपा 1 करोड़ का चेक

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को कोविड-19 की ड्यूटी के दौरान कोरोना की चपेट में आने से अपनी जान गंवाने वाले कोरोना योद्धा डॉ. संजीव कुमार के परिजनों से मुलाकात कीl  डॉ. संजीव कुमार दिल्ली के महर्षि बाल्मीकि अस्पताल में पीडियाट्रिशियन के पद पर कार्यरत थें। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने डॉ. संजीव कुमार के परिजनों को इस दौरान दिल्ली सरकार की तरफ से एक करोड़ रुपए की सहायता राशि का चेक सौंपा l इस दौरान दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि, भले ही ये अनुग्रह राशि परिवार को हुए नुकसान की भरपाई न कर पाए, लेकिन मुझे उम्मीद हैं कि परिजनों को इस आर्थिक मदद से अपना भविष्य संवारने और जीवन यापन में थोड़ी सहायता मिलेगी l स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने डॉ. संजीव कुमार के परिवार को सांत्वना दी और भविष्य में भी जरूरत पड़ने पर हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया।

सत्येंन्द्र जैन ने कहा कि कोरोना योद्धाओं ने मानवता और समाज की सेवा करते हुए अपने जिंदगी गंवा दी। हम दिल से उनकी मेहनत और महामारी से जंग लड़ने के उनके जज्बे को सलाम करते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बीच जनता की सेवा के लिए डॉक्टरों, नर्सों और कर्मचारियों ने परिजनों से दूरियां बनाते हुए मरीजों के इलाज के लिए 24 घंटे सेवाएं दी। इस बीच कई कोरोना योद्धा खुद कोरोना संक्रमित हुए और अपनी जान तक गवां दी। मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि उनकी आत्मा को शांति मिले।

कौन थे कोरोना योद्धा डॉ. संजीव कुमार ?

दिल्ली के पश्चिम विहार निवासी डॉ. संजीव कुमार महर्षि वाल्मीकि अस्पताल में पीडियाट्रिशियन थें। उन्होंने कोरोना काल के दौरान पूरी जिम्मेदारी के साथ ड्यूटी की और लॉकडाउन के दौरान भी कंटेनमेंट जोन और होम क्वारंटीन में रह रहे लोगों तक अपनी सेवाएं पहुंचाई। इस बीच वे कोरोना संक्रमित हो गए तथा अचानक तबियत बिगड़ने के चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। करीब 10 दिनों तक अस्पताल में रहने के बावजूद भी डॉक्टर उनकी जान नहीं बचा पाए और कोरोना के चलते उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया l

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending