ज्यादा शहद का सेवन करने से फायदे नहीं बल्कि हो सकते है कठोर नुकसान, जानिए क्या रखनी है सतर्कता

शहद के सेहत से जुड़े अद्भुत फायदों की वजह से सदियों से इसका इस्तेमाल किया जा रहा है। यही नहीं शहद को गुणों की खान भी कहा जाता है। शहद के औषधीय गुण कई रोगों से मुक्ति दिलाने में कारगर है। कई सालों से पारंपरिक उपचार में शहद का उपयोग चला आ रहा है। लेकिन ज्यादातर लोग शहद के बेमिसाल फायदे जानने के बाद इसका सेवन कभी भी और किसी भी मात्रा में करते हैं। जबकि शहद के ज्यादा सेवन करने से फायदे की जगह नुकसान भी काफी हो सकते हैं।

तो चलिए आपको बताते हैं शहद किस तरह से सेहत को किस तरह से हानि पहुंचा सकता है।

पेट दर्द:– शहद के अधिक सेवन से पेट दर्द की दिक्कत हो सकती है। शहद को ज्यादा मात्रा में कहा लेने से पेट में ऐंठन और दस्त जैसी परेशानी हो सकती है। शहद में फ्रुक्टोज की मात्रा पाई जाती है जो छोटी आंतों के पोषक तत्व को अवशोषित करने की क्षमता को बाधित कर सकता है। ऐसे में ये पेट में दिक्कत होने की वजह बन सकता है।

एलर्जी:– बहुत अधिक शहद के सेवन से एलर्जी जैसी परेशनियों से जूझना पड़ सकता है। ऐसे लोग जिन्हें पराग कणों से एलर्जी है उन लोगों को शहद का सेवन भूलकर भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे परेशानी और ज्यादा बढ़ने का डर बना रहता है। इसके अलावा शहद के सेवन से एनाफिलेक्सिस नाम का एलर्जिक रिएक्शन भी हो सकता है।

फूड पॉइजनिंग:– शहद का ज्यादा सेवन करने से फूड पॉइजनिंग होने की समस्या पैदा हो सकती है। जिस वजह से पेट दर्द, दस्त, उल्टी जैसी दिक्कत झेलनी पड़ सकती है। इसके साथ ही इसके सेवन से बच्चों में बोटुलिज्म पॉइजनिंग होने का खतरा भी हो सकता है।

ब्लड शुगर लेवल:- अत्यधिक मात्रा में शहद का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ने की समस्या हो सकती है। शहद में कुछ मात्रा में फ्रुक्टोज होता है जिसकी वजह से मधुमेह के मरीजों को शहद का सेवन नहीं करना चाहिए।

इन बातों का भी रखें ध्यान

एक साल से कम उम्र के बच्चों को शहद न खिलाएं। इससे बच्चों में बोटुलिज़्म का खतरा हो सकता है।

प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग के समय शहद का बहुत ज्यादा सेवन नहीं करें।

कभी भी त्वचा पर सीधा शहद को अप्लाई नहीं करना चाहिए, बल्कि इसको गुलाब जल या दूध में मिला कर इस्तेमाल करें।

बहुत तेज गर्म पानी में शहद मिलाकर कभी नहीं पीना चाहिए। ऐसा करना सेहत के लिहाज से ठीक नहीं रहता।

भूलकर भी शहद और देशी घी को समान मात्रा में साथ नहीं खाएं। ऐसा करना सेहत के लिए जानलेवा साबित हो सकता है।

नोट:– यह लेख सिर्फ आपकी सामान्य जानकारी प्रदान करती है। ये किसी योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। इसलिए ध्यान रहे इन पर अमल करने से पहले किसी विशेषज्ञ या अपने डॉक्टर की सलाह एक बार अवश्य लें।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending