कांग्रेस नेता रूपज्योति कुर्मी ने दिया इस्तीफा कहा, राहुल गांधी नेतृत्व करने में असमर्थ हैं उनके कारण पार्टी आगे नहीं बढ़ पा रही

इन दिनों कांग्रेस पार्टी के भीतर लगातार घमासान देखने को मिल रहा है। पार्टी टूटने की कगार पर नजर आ रही है। राजस्थान, पंजाब के बाद असम में भी कांग्रेस के अंदर कलह की खबर सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक असम (Assam) की मरिअनी विधानसभा सीट से विधायक रुपज्योति कुर्मी (Rupjyoti Kurmi) ने कांग्रेस पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया है। रुपज्योति कुर्मी ने मीडिया को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी पर जोरदार हमला भी बोला। इतना ही नहीं रुपज्योति ने ये तक कह दिया कि राहुल गांधी नेतृत्व करने में असमर्थ हैं, अगर वह शीर्ष पर हैं तो पार्टी आगे नहीं बढ़ेगी। 
रूपज्योति कुर्मी का आरोप है कि कांग्रेस पार्टी युवाओं की आवाज सुन नहीं रही । रूपज्योति कुर्मी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस आलाकमान युवाओं को नहीं सुनना चाहते हैं, इसलिए सभी राज्यों में पार्टी की स्थिति बिगड़ती जा रही है। रूपज्योति कुर्मी ने राहुल गांधी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी नेतृत्व करने में असमर्थ हैं, अगर वह कांग्रेस की कमान संभालते हैं तो पार्टी आगे नहीं बढ़ेगी। रूपज्योति कुर्मी ने आगे कहा कि इस बार असम विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के पास जीतने का अच्छा मौका था। इस बारे में उन्होंने आलाकमान को भी अवगत कराया था, लेकिन पार्टी ने एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन करके सब गड़बड़ कर दिया। कुर्मी ने आरोप लगाया कि आलाकमान अभी तक बुजुर्ग नेताओं को ही प्राथमिकता देता रहा है। युवाओं की बात वह नहीं सुनना चाहते हैं। 

रूपज्योति कुर्मी ने कहा-

 ‘मैं कांग्रेस छोड़ रहा हूं क्योंकि दिल्ली में आलाकमान और गुवाहाटी के नेता बुजुर्ग नेताओं को ही प्राथमिकता देते हैं। हमने उनसे कहा था कि कांग्रेस के पास इस बार सत्ता में आने का अच्छा मौका है और हमें एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह एक गलती होगी। यह वास्तव में हुआ भी।’ कुर्मी ने आगे मीडिया से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी में युवा नेताओं की बातों को बिलकुल तवज्जो नहीं दी जा रही है, इसलिए सभी राज्यों में स्थिति बहुत खराब होती जा रही है।

बता दें की कांग्रेस ने कुर्मी को ‘‘उनकी पार्टी विरोधी गतिविधियों’’ के चलते पार्टी से निष्कासित कर दिया है। असम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने एक वक्तव्य में कहा कि इस फैसले को अखिल भारतीय कांग्रेस समिति ने मंजूरी दी है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending