पीएम मोदी के आर्मी ड्रेस पहनने पर भड़की कांग्रेस, पूछा – क्या एक गैर-सेना व्यक्ति सेना की वर्दी पहन सकता है?

दिवाली के मौके पर भारतीय सेना के जवानों के बीच आर्मी ड्रेस पहनकर पहुंचे पीएम मोदी पर कांग्रेस के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ये केवल शुरुआत है, लेकिन उन्हें तब भी कोई आश्चर्य नहीं होगा जब पीएम मोदी खुद को देश का स्थायी प्रमुख घोषित कर देंगे। इसके साथ ही दिग्विजय सिंह ने सीडीएस बिपिन रावत और राजनाथ सिंह से स्पष्टीकरण मांगा कि क्या एक गैर-सेना व्यक्ति सेना की वर्दी में तैयार हो सकता है।

कांग्रेस के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया, “क्या कोई नागरिक, गैर सेना का व्यक्ति सेना की वर्दी पहन सकता है? जनरल रावत या रक्षा मंत्री जी कृपया स्पष्ट करें।” बता दें कि दिवाली के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 4 नवबंर को जम्मू कश्मीर के नौशेरा में सेना के जवानों के बीच त्योहार मनाया। इस दौरान पीएम मोदी ने सेना की वर्दी पहनी हुई थी। 

इस पर दिग्विजय सिंह ने यशवंत सिंहा के एक ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, “यह केवल शुरुआत है यशवंत सिन्हा जी। हिटलर प्रथम विश्व युद्ध में एक कॉर्पोरल था और उसने खुद को जर्मन सेना का कमांडर इन चीफ घोषित किया था। अगर मोदी जी को संसद में एक और कार्यकाल मिलता है तो मुझे इस पर कोई आश्चर्य नहीं होगा, अगर वे संविधान में बदलाव करते हैं और खुद को राज्य का स्थायी प्रमुख घोषित करते हैं!”

दिग्विजय सिंह के इन सवालों को लेकर शुक्रवार को बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने उन्हें जवाब देते हुए कहा कि, दिग्विजय सिंह को इस बात की जानकारी नहीं है कि नागरिक सम्मान के प्रतीक के रूप में वर्दी पहन सकते हैं। उन्होंने कहा, “दिग्विजय सिंह को इसके बारे में पता नहीं होगा, लेकिन सेना के अधिकारियों को किसी भी नागरिक को तैयार करने का अधिकार है। मुझे भी एक कार्यक्रम में तैयार किया गया था। अच्छा काम करने वाले नागरिकों को यह सम्मान दिया जाता है।”

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending