Computer Work : कंप्यूटर पर अधिक देर तक काम करने से हो सकती हैं ये समस्याएं, अपनाएं ये तरीके

ऑफिस में काम करने वाले लोगों को काफी देर तक तक कंप्यूटर के सामने बैठ कर काम करना होता है। आजकल अधिकतर कार्यों के लिए लोग कंप्यूटर पर निर्भर हो गए हैं जिसके कारण कई प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां भी सामने आ रही हैं। जैसे कि काफी अधिक समय तक कंप्यूटर के सामने सर झुका कर या फिर काफी देर तक कंप्यूटर को देखते हुए कार्य करने से गर्दन दर्द, आंखों में दर्द, सर में दर्द या फिर स्पाइन से जुड़ी समस्याएं सामने आ रही हैं।

 अगर आप भी ऑफिस में कार्य करते हैं और काफी अधिक देर तक कंप्यूटर पर बैठकर काम करते है तो आपको कुछ बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए।  कुछ बातों का ध्यान रखकर इन परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है। आज के इस लेख में हम आपको इन्हीं उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं। तो आइए जानते हैं।

1. कुछ समय के अंतराल पर लेते रहें ब्रेक – अगर आप ऑफिस में घंटो तक कंप्यूटर पर कार्य करते हैं तो आपको हर एक 20 मिनट पर थोड़ा रेस्ट लेना चाहिए। 20 मिनट के अंतराल पर आप अपनी सीट से उठे और थोड़ा टहलें। ऐसा करने से पीठ के दर्द या फिर रीड की हड्डी में दर्द होने से बचा जा सकता है।

2. चश्मों का करें इस्तेमाल – अगर आपको भी कंप्यूटर पर कार्य करने के वक्त आंखों में जलन, आंखों में दर्द या फिर आंखों में पानी आने की समस्या है तो आप डॉक्टर से आंखे  की जांच कराकर चश्मा जरूर लें और जब भी कंप्यूटर पर कार्य करें तो चश्मा पहन कर ही कार्य करें। इससे आंखों को नुकसान कम होता है और सर दर्द, सर चकराने या फिर आंखों से पानी आने की समस्या दूर हो जाती। साथी आंखों की रोशनी भी अच्छी बनी रहती है।

3. सर को झुका कर ना करे काम – जब भी आप कंप्यूटर पर कार्य करें तो सर को झुका कर कार्य ना करें क्योंकि इससे गर्दन की हड्डी पर असर पड़ता है और गर्दन में दर्द होने की समस्या हो सकती है। ऐसी स्थिति में आप जब भी कंप्यूटर पर कार्य करें तो पीठ की रीड को सीधा रखें और सर को ऊपर उठाकर कंप्यूटर के लेवल में कार्य करें। इससे आपको गर्दन और पीठ में दर्द नहीं होगा और आप अच्छे प्रकार से कार्य कर पाएंगे। 

4. सोने का तरीका भी बदलें – कमर, गर्दन और बाहों में दर्द का कारण रात के समय गलत पोजीशन में सोना भी होता है। अगर आप रात के समय अनुचित प्रकार से यानी गलत पोजीशन में सोते हैं तो आपको गर्दन, कमर और बाहों में दर्द होने की परेशानी हो सकती है। ऐसी स्थिति में आप सीधे या फिर करवट लेकर सोए। या फिर आप जिस पोजीशन में खुद को कंफर्टेबल महसूस करते हैं उस पोजीशन में सोए। लेकिन ध्यान रखें कि सर के नीचे एक से अधिक तकिया ना रखें क्योंकि इससे गर्दन की हड्डी पर असर पड़ता है। 

ReplyForward

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending