जातीय जनगणना पर बोले सीएम नीतीश कुमार कहा- पीएम मोदी को लिखी थी चिठ्ठी पर अब तक नही मिला कोई जवाब

सोमवार को जनता दरबार खत्म होने के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर जाति आधारित जनगणना कराने पर जोर देते हुए कहा की हम जातीय जनगणना कराना चाहते हैं और यह हमारी पुरानी मांग है। जाति आधारित जनगणना से सभी जातियों को मदद मिलेगी और उनकी सही संख्या पता चल सकेगी। इसके आधार पर नीतियां बनाई जा सकेंगी। 
नीतीश कुमार ने आगे कहा कि इस बारे में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा था। इस पत्र का हमें अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है। सीएम नीतीश ने कहा है कि बिहार में तो सर्वसम्मति से दो बार विधानमंडल से यह पारित कराकर केन्द्र सरकार को भेजा गया है। विधानसभा और विधान परिषद में सभी पार्टियों ने इस प्रस्ताव का समर्थन किया था। 
जदयू ही नहीं, राजद, समाजवादी पार्टी और द्रमुक जैसे अन्य राजनीतिक दल भी जाति आधारित जनगणना की मांग कर रहे हैं। राजद नेता तेजस्वी यादव ने जाति जनगणना का मुद्दा उठाया था और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी मुलाकात की थी, जिन्होंने देश में जाति आधारित जनगणना की मांग का भी समर्थन किया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending