सेहत और खूबसूरती दोनों के ल‍िए वरदान है दालचीनी का दूध, जानिए इसके हैरान करने वाले फायदे

दूध कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है ये तो आप जानते ही हैं लेकिन दूध में दालचीनी (Cinnamon And Milk) को मिलाकर आप दूध की शक्ति को और भी बढ़ा सकते हैं। दूध में दालचीनी मिलाकर पीने के फायदे जबरदस्त हैं। इससे न सिर्फ आपको पेट की समस्याओं (Stomach Problems) से छुटकारा मिल सकता है बल्कि कई और कमाल के फायदे भी हो सकते हैं। दालचीनी न सिर्फ एक मसाला है बल्कि इसमें सेहत के कई गुण छिपे हुए होते हैं। ये खाने में स्‍वाद घोलने के अलावा मर्दों में यौन शक्ति बढ़ाने के साथ ही वजन भी घटाने में भी सहायक होता है। इसके साथ ही यह सर्दी-जुकाम से निजात दिलाने में फायदेमंद होता है।
दालचीनी वाला दूध (Cinnamon Milk) पीने से आपका मेटाबॉलिज्म तेज हो सकता है। दालचीनी और दूध आपको कई परेशानियों से छुटकारा दिला सकते हैं। इसमें बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं। जो हमें बहुत सारी बीमारियों से बचाते हैं।

ऐसे बनाए दालचीनी वाला दूध
एक गिलास दूध लें। इसे एक बर्तन में डालकर गर्म करें। इसमें आधा या एक छोटा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाएं। इसे थोड़ी देर उबलने दें ताकि दालचीनी के गुण दूध में अच्छी तरह से घुल जाएं। इस दूध को गर्म ही पिएं। यदि आपको किसी तरह की एलर्जी है, तो इसका सेवन ना करें।
दूध मे मौजूद पोषक तत्व
दूध प्रोटीन, कैल्शियम और राइबोफ्लेविन युक्त होता है, इनके अलावा इसमें विटामिन ए, डी, के और ई सहित फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, आयोडीन व कई खनिज और वसा तथा ऊर्जा भी होती है। साथ ही इसमें कई एंजाइम और कुछ जीवित रक्त कोशिकाएं भी हो सकती हैं।

दालचीनी मौजूद पोषक तत्व
दालचीनी में कैल्शियम, आयरन, विटामिन और फाइबर होते हैं जो आपके शरीर को बीमारियों से बचाने में मदद करते है इसके साथ ही इसमें बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं।

जानिए दूध में दालचीनी मिलाकर पीने के अद्भुत फायदे:-
1. दालचीनी वाला दूध पीने से इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग करने के साथ पुरुषों में स्‍पर्म काउंट को भी बढ़ाता है।
2. दालचीनी में उच्च मात्रा में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं। दूध में चुटकी भर दालचीनी डालकर पीने से जुकाम से राहत पाने में मदद मिलती है।
3. दालचीनी वाला दूध आपकी बॉडी के लाइफ स्पेन को बढ़ा देता है। इससे आपकी बढ़ती उम्र का असर बॉडी पर नहीं होता। उम्र बढ़ने पर भी आप बूढ़े नहीं दिखते।
4. ये एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टी के साथ आता है। इसके पीने से स्किन की प्रॉब्लम्स जैसी मुंहासे या कील आदि नहीं हाेते। इससे बाल झड़ने की प्रॉब्लम भी दूर हो जाती है।
5. दूध में दालचीनी मिलाकर पीने से दर्द से आराम मिलता है। दालचीनी प्रोस्टाग्लैंडीन से प्रतिक्रिया करती है जो मांसपेशियों को आराम करने और दर्द से राहत दिलाने में मदद करती है।
6. दालचीनी में एंटीफंगल और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं। तो दूसरी तरफ दूध कैल्शियम का स्त्रोत होता है जिसका रोजाना सेवन करने से मसूड़ें मजबूत होते हैं।
7. दालचीनी वाला दूध पीने से इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग हो जाता है, जिससे आप जल्दी बीमार नहीं पड़ते। आपकी बॉडी पर वायरस जल्दी असर नहीं डाल पाते। इसके साथ ही ये थकान को भी दूर करता है। 
8. दालचीनी पेट में भोजन को घूमने की प्रक्रिया को धीमा कर देती है। साथ ही फैट को जमा होने से रोकती है। जब आप दूध में दालचीनी मिलाकर पीते हैं तो पूरे दिन पेट भरा हुआ सा महसूस होता है। जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है।
9. ठंड आते ही लोगों को जोड़ों के दर्द की शिकायत होने लगती है। ज्यादातर इस समस्या से बुजुर्ग परेशान रहते हैं। इस समस्या को दूर करने के लिए गुनगुने दूध में शहद और दालचीनी पाउडर डालकर पेस्ट बना लें और इसे जोड़ों पर लगाएं।
10. पाचन संबंधी समस्याएं जैसे खाना ना पचना और पेट में खिंचाव होने पर दालचीनी वाला दूध बहुत फायदेमंद होता है। इसके साथ ही दालचीनी के दूध का सेवन करने से पॉटी की समस्या भी दूर होती है। बच्चों में डायरिया की समस्या दूर करने के लिए यह काफी असरदार होता है।

जानें, जरूरत से ज्यादा दालचीनी वाला दूध पीने के नुकसान क्या-क्या हो सकते हैं:-
• यदि आपकी डिलीवरी सर्जरी के जरिए हुई है, तो दालचीनी वाला दूध पीने से परहेज करें। इससे ब्लीडिंग अधिक हो सकती है।
• किडनी और लिवर रोग में भी दूध में दालचीनी पाउडर (cinnamon) को डालकर पीने से बचना चाहिए। अधिक सेवन से किडनी की समस्या बढ़ सकती है। ‌
• प्रेग्नेंसी के दिनों में इस दूध का सेवन कम ही करना चाहिए, क्योंकि दालचीनी की तासीर गर्म होती है और प्रेग्नेंसी में अधिक गर्म चीजों के सेवन से बचना चाहिए।
• डायबिटीज रोगियों (Diabetes patient) को भी दालचीनी वाला दूध (Dalchini wala doodh) प्रतिदिन पीने से बचना चाहिए, क्योंकि यह खून में ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar) को कम कर देता है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending