चीन ने सिक्किम में भारत – चीन सैनिकों के बीच झड़प की बात को नकारा

चालबाज चीन हमेशा सच पर पर्दा डालने की कोशिश में लगा रहता है ताकि दुनिया के सामने उसकी किरकिरी न हो जाए. इससे पहले लद्दाख में भारतीय और चीनी सैनिक के बीच हुई झड़प में मारे गए चीन के सैनिकें की  बात को भी चीन ने नकार दिय था ताकि उसे दुनिया में शर्म का सामना ना करना पड़े. दरअसल, भारतीय सेना की ओर से मामूली झड़प की पुष्टि के बावजूद ड्रेगन ने इस तरह की घटना से इनकार किया है. चीन सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्सकी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि सोमवार को भारतीय मीडिया ने चीनी और भारतीय सैनिकों में तीन दिन पहले झड़प की बात कही है, जिसमें दोनों तरफ के सैनिक घायल हुए हैं, ग्लोबल टाइम्स को एक सूत्र ने बताया है कि ये रिपोर्ट्स फेक हैं. पीपल्स लिब्रेशन आर्मी  के फ्रंट लाइन पट्रोल लॉग्स में ऐसा कुछ दर्ज नहीं है. साथ ही ग्लोबल टाइम की और से कहा गया कि दोनों देशों के अग्रिम सैनिकों के बीच टकराव हो सकता है, लेकिन यदि ऐसा टकराव होता है जिसमें सैनिक हताहत हुए हों, तो यह असंभव है कि रिकॉर्ड में इसे दर्ज ना किया जाए. आपको बता दे कि  भारतीय सेना ने चीनी सेना के साथ झड़प की पुष्टि की है, हालांकि, उसने कहा कि यह एक मामली झड़प थी और इस मसले को स्थानीय कमांडरों के स्तर पर सुलझा लिया गया है. गौरतलब है कि चीन की हमेशा से आदत चिजों को छिपाने और दुनिया को भ्रम में रखन की रही हैं. चीन की ये नीति है कि वो अपने नुकसान को दुनिया को कभी नहीं बताता हैं. कोरोना के मुद्दे पर चीन हमेशा से ही घिरता रहा हैं और चीन सहित पूरी दुनिया जानती है की कोरोना वायरस का जन्म चीन से ही हुआ.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending