चैत्र नवरात्री का है खास महत्व, देवी दुर्गा के नौ अवतार की होती है पूजा, जाने इसका महत्व

हिंदुओं के प्रमुख त्याहारों में एक चैत्र नवरात्रि शुरू होने वाला है। इस त्योहार को देश भर में पूरे उत्साह और उल्लास के
साथ मनाया जाता है। भारत में नवरात्रि साल में दो बार, बड़े ही समान, उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाता है।
चैत्र नवरात्रि 13 अप्रैल से शुरू होने वाला है जो की 22 अप्रैल तक चलेगा।

मार्च-अप्रैल के महीनों में मनाए जाने वाले इस नवरात्रि को चैत्र नवरात्रि और वसंत नवरात्रि के रूप में जाना जाता है।
इसे 9-दिवसीय त्योहार के रूप में भी मनाया जाता है, इस अवधि के दौरान, भक्त माँ दुर्गा के 9 रूपों की पूजा करते हैं
और जीवन में अच्छे स्वास्थ्य और खुशी के लिए प्रार्थना करते हैं।

चैत्र नवरात्रि 2021 का महत्व :
चैत्र नवरात्रि का पहला दिन पूर्णिमा से शुरू होता है और शुक्ल पक्ष चरण के रूप में जाना जाता है। नवरात्रि का पहला
दिन हिंदू कैलेंडर के चैत्र महीने प्रथम दिन को दर्शाता है। नवरात्रि के नौ दिनों के दौरान, देवी दुर्गा माँ के नौ रूपों की
पूजा आराधना की जाती है और सभी दिनों को शुभ माना जाता है। नौ दिनों के दौरान किए गए अनुष्ठान हर दिन
बदलते रहते हैं।

देश के अलग-अलग हिस्सों में, चैत्र नवरात्रि को विभिन्न नामों से जाना जाता है। कश्मीर में चैत्र नवरात्रि को नवरात्र
के रूप में जाना जाता है जबकि महाराष्ट्र में, चैत्र नवरात्रि के पहले दिन को गुड़ी पड़वा के रूप में जाना जाता है। भले ही
पूरे देश में नवरात्रि को अलग-अलग नाम से जाना जाता हों, लेकिन त्योहार को उसी उत्साह और खुशी के साथ मनाया
जाता है।

देवी दुर्गा के नौ अवतार

शैलपुत्री

ब्रह्मचारिणी

चंद्रघंटा

कुष्मांडा

स्कंदमाता

कात्यायनी

कालरात्रि

महागौरी

सिद्धिदात्री

चैत्र नवरात्रि 2021 के नौ दिन:

दिन 1:- 13 अप्रैल (मंगलवार) प्रतिपदा

दिन 2:- 14 अप्रैल (बुधवार) द्वितीया

दिन 3:- 15 अप्रैल (गुरुवार) तृतीया

दिन 4:- 16 अप्रैल (शुक्रवार) चतुर्थी

दिन 5:- 17 अप्रैल (शनिवार) पंचमी

दिन 6:- 18 अप्रैल (रविवार) शास्त्री

दिन 7:- 19 अप्रैल 2021 (सोमवार) सप्तमी

दिन 8:- 20 अप्रैल (मंगलवार) अन्नपूर्णा अष्टमी-संधि पूजा

दिन 9:- 21 अप्रैल (बुधवार) रमा नवमी

दिन 10:- 22 अप्रैल (गुरुवार) दशमी, नवरात्रि पारण

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending