स्वास्थ्य के लिए किसी संजीवनी से कम नही है काजू, जानिए इसमे मौजूद पोषक तत्व से लेकर इसके फायदे और नुकसान

ड्राई फ्रूट्स की बात हो और काजू का जिक्र न हो, ऐसा तो हो ही नहीं सकता। काजू को अक्सर हम ड्राई फ्रूट, मिठाइयों, कई सारे पकवानों में, सब्जी में, चटनी आदि तरीको से खाते हैं। काजू में विटामिन ई प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जिससे यह एंटी-एजिंग का काम करता है। काजू खाने से शरीर का मेटाबोलिज्म सही रहता है और दिल की बीमारी भी दूर होती है। काजू में मैग्नीशियम, पोटैशियम, कॉपर, जिंक, आयरन, मैंगनीज, सेलेनियम जैसे मिनरल्स पाए जाते हैं जो इसे गुणों की खज़ाना बनाते हैं। 

काजू को डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। आपको बता दें कि काजू को सिर्फ स्वाद और सेहत के लिए ही नहीं बल्कि सुंदरता के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। काजू में पाए जाने वाले पोषक तत्व स्किन और बालों के लिए काफी अच्छे माने जाते हैं तो चलिए आज हम आपको काजू खाने के फायदों के बारे में बताते हैं।

काजू में मौजूद पोषक तत्व

काजू में कैलोरी, कार्बोहाइड्ड्रेट, वसा , प्रोटीन, फाइबर, विटामिन सी, नियासिन, राइबोफ्लेविन , थियामिन, फोलेट, विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन बी, विटामिन के, सोडियम, पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, जिंक और फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होते है। इसलिए इनका रोजाना थोड़ी थोड़ी मात्रा में सेवन करते रहना चाहिए।

काजू के नियमित सेवन से मिलने वाले फायदे:-

>> नियमित रूप से काजू का प्रतिदिन सेवन करने से पित्त में पथरी होने का 25% खरता कम होता है।

>> काजू में प्रोटीन अधिक मात्रा में होता है। काजू तैलीय और शुष्क त्वचा के लिए लाभदायक होता है। 

>> काजू में सोडियम की मात्रा बहुत कम होती है और इस में पोटैशियम और मैग्नीशियम बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है जो हमारे रक्तचाप को नियंत्रण में रखते हैं।

>> काजू मधुमेह को कम करने के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। काजू के नियम अनुसार सेवन करने से इंसुलिन की मात्रा बढ़ती है जिससे मधुमेह नियंत्रित रहता है।

>> काजू में कॉपर पाया जाता है। काजू के नियमित उपयोग से बाल लम्बे, घने, मजबूत और चमकदार बनते हैं। इस के नियमित उयोग से बाल झड़ने की समस्या भी दूर हो जाती है।

>> काजू में विटामिन और मिनरल्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। यह गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा आहार होता है। इस का नियमित उपयोग गर्भवती महिलाओं और गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए बहुत ही लाभदायक होता है।

>> काजू में मौजूद प्रोएंथोसायनीडीन्स और कॉपर कैंसर कोशिकाओं से लड़ने में मदद करते हैं और हमें पेट के कैंसर से दूर रखते हैं। साथ-साथ काजू में विटामिन ई और सेलेनियम जैसे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो कैंसर को पनपने से रोकते हैं। 

>> काजू में पाए जाने वाले तत्व शरीर को मजबूत बनाने का काम करते हैं। इसमें मौजूद मैग्नीशियम हड्ड‍ियों के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। काजू के सेवन से शरीर में ताकत बनी रहती है। इतना ही नहीं ये इंस्टेंट एनर्जी देने में भी मदद कर सकता है।

>> काजू में वसा की मात्रा अन्य नट की तुलना में बहुत कम होती है और इस में ओलिक एसिड की मात्रा अधिक होती है जो हमारे हृदय स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता होती है। काजू में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बहुत कम होता है और इस में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट हमें दिल की बीमारियों से दूर रखते हैं।

>> कैल्शियम की तरह मैग्नीशियम भी हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण होता है। काजू में मौजूद मैग्नीशियम हमारी हड्डियों को अन्दर से मजबूत बनाता है। हमें अपने शरीर के लिए प्रतिदिन 300-750 मिली ग्राम मैग्नीशियम की ज़रूरत होती है। अतः हमें हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए काजू का सेवन करना चाहिए।

जरूरी नहीं कि काजू हर किसी की सेहत पर अच्छा असर करे। कुछ लोगों के लिए यह हानिकारक भी साबित हो सकता है। कुछ लोगों को काजू के सेवन से एलर्जी हो सकती है, ऐसे में इससे दूरी बनाना ही उनके लिए ठीक रहेगा। काजू में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है । फाइबर पेट को साफ करने का काम करता है। इसलिए, जिन्हें दस्त की समस्या हो, उन्हें काजू नहीं खाने चाहिए। आइए जानते है काजू से होने वाले नुकसान के बारे में…

काजू के अत्यधिक सेवन से होने वाले नुकसान:-

काजू अगर हमें शारीरिक लाभ प्रदान करता है वैसे ही इसकी अधिक मात्रा में सेवन के नुकसान भी हैं। अधिक मात्रा में काजू का उपयोग करने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है। क्योंकि इसमें सोडियम काफी मात्रा में पाया जाता है। इतना ही नहीं अगर आप जरूरत से ज्यादा काजू खाते हैं, तो शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ सकती है, जिससे उच्च रक्तचाप, स्ट्रोक और हृदय से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं। साथ ही किडनी पर भी प्रभाव पड़ सकता है।

काजू में कैलोरी अधिक मात्रा में होती है अतः इसका अधिक सेवन आप के वजन को बढ़ा सकता है। इस के अधिक सेवन से पेट ख़राब जैसी समस्या भी हो सकती है। काजू में फाइबर पाया जाता है। फाइबर स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन काजू के रूप में बहुत ज्यादा फाइबर का सेवन पेट में सूजन और गैस का कारण बन सकता है।
काजू पोटेशियम से समृद्ध होता है।

अधिक काजू के सेवन से ज्यादा पोटैशियम हमारे शरीर में पहुंच सकता है, जिस कारण दिल का धड़कना अचानक बंद हो जाना, कमजोरी और किडनी में खराबी जैसी अवस्था हो सकती है। वहीं सिरदर्द और माइग्रेन से पीड़ित लोगों को अधिक मात्रा में काजू का उपयोग नहीं करना चाहिए। इस में मौजूद अमीनो एसिड सिरदर्द और माइग्रेन के दर्द को और बढ़ा सकता है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending