कोरोना काल में जीवन शैली में किये गए कुछ बदलाव करने से तीसरी लहर से हो सकते हैं सुरक्षित

कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर के खत्म होने के बाद अब सभी को तीसरी लहर का डर सता रहा है। फिलहाल लोगों के मन में ऐसे सवाल चल रहे हैं, तीसरी लहर अब आएगी, यह कितनी गंभीर होगी और किन लोगों को इससे विशेष सावधान रहने की जरूरत है। कई देशों में कोरोना के दोबारा से बढ़ते मामले चिंता को और बढ़ाने वाले हैं। इन सब खबरों के बीच तीसरी लहर से बचाव के उपायों को लेकर लोगों में जिज्ञासा देखी जा रही है।

वैसे ये बात तो कोरोना के दौरान हर समय बताई जा रही है  इम्यूनिटी मजबूत होगी, उन पर कोरोना की तीसरी लहर का ज्यादा असर नहीं होगा। वैक्सीन भी इस राह में लाभदायक साबित हो सकती है। बावजूद इसके इम्यूनिटी मजबूत होना अब भी सबसे ज्यादा जरूरी है। तो चलिए आज हम आपको कुछ उपायों के बारे में बताने वाले हैं जो बॉडी में इम्यूनिटी पावर को मजबूत करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए कोविड -19 के तमाम वेरिएंट्स और संभावित तीसरी लहर से सुरक्षा दे सकते हैं। मालूम हो इन नियमों सही ढंग से पालन करके कोरोना की तीसरी लहर से खुद का बचाव किया जा सकता है।

1. रोजाना एक्सरसाइज करें 

कहा जाता है जो लोग व्यायाम करते हैं उनके शरीर में टी-कोशिकाओं का उत्पादन, व्यायाम न करने वालों की तुलना में अधिक होता है। व्यायाम करने से कई ऐसे हार्मोन का स्राव बढ़ जाता है जो प्राकृतिक रूप से प्रतिरक्षा प्रणाली को स्ट्रांग करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञ कोरोना से पहले भी सभी लोगों को नियमित व्यायाम करने की सलाह देते हैं।

2. शराब और धूम्रपान नहीं करें

शराब और धूम्रपान का सेवन शरीर के लिए बहुत हानिकारक माना जाता है। शराब लिवर को कमजोर करने के साथ-साथ किसी भी संक्रमण से लड़ने की शरीर की क्षमता को खत्म कर देती है। इस खास वजह से इम्यूनिटी को बेहतर बनाए रखने के लिए शराब का सेवन करने से परहेज करें। इसके अलावा धूम्रपान फेफड़ों को स्वस्थ रखने और प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाए रखने के लिए इससे बचना चाहिए।

3.अच्छी नींद लें  

स्वस्थ जीवन के लिए पर्याप्त नींद लेना सबसे ज्यादा जरूरी होता है। आपको बता दें नींद पूरी नहीं होने की वजह से भी इम्युनिटी प्रभावित हो सकती है। अध्ययनों से पता चलता है कि जो लोग अच्छी नींद लेते हैं उनकी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया, नींद पूरी न कर पाने वाले लोगों की तुलना में बेहतर होती है।

4. खुद को रखें तनाव मुक्त

मानसिक तनाव और इम्यूनिटी का एक बहुत गहरा संबंध होता है। बेशक आपका खान-पान अच्छा है, नियमित दिनचर्या का पालन कर रहे हैं, लेकिन आप तनाव का शिकार हो रखें हैं तो यह आपके शरीर की संक्रमणों को मात देने की क्षमता को कम कर देता है। बता दें, टेंशन होने से प्रतिरक्षा को कमजोर करने के साथ स्वास्थ्य संबंधी कई अन्य समस्याओं को जन्म दे सकता है। इसलिए जितना हो सके खुश रहने की कोशिश करने और चिंता करने से बचें।  

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending