35 सालों का रिकॉर्ड तोड़ कर उत्तर प्रदेश की जनता फिर बनाएगी मुझे मुख्यमंत्री: योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगामी चुनावों को लेकर भारतीय जनता पार्टी की जीत को लेकर आश्वस्त करते हुए कहा कि पिछले 35 सालों का रिकॉर्ड तोड़कर यूपी की जनता एक बार फिर योगी सरकार को ही चुनेगी। बुधवार को टाइम्स नाऊ द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान योगी आदित्यनाथ ने कहा की , उन्हें यकीन है कि प्रदेश की जनता पिछले 35 सालों का रिकॉर्ड तोड़ कर उनको मुख्यमंत्री दोबारा बनाएगी।

कार्यक्रम को होस्ट कर रही नाविक द्वारा पूछे गए सवाल कि पिछले 35 सालों में ऐसा कभी नहीं हुआ कि कोई सीएम दोबारा चुन कर आया हो पर योगी आदित्यनाथ ने मुस्कुराते हुए कहा, “मैं आऊँगा न।” जब न्यूज़ एंकर नविका सीएम से पूछती हैं कि क्या आप ये रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं। इस पर योगी कहते हैं, “हम रिकॉर्ड तोड़ने के लिए ही आए हैं…मेरा जो ट्रेंड चल रहा है न 350 से कम सीट बीजेपी लेकर नहीं आने वाली।”

यही नहीं इस बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी को भी जम कर घेरा और कहा, “कॉमन मैन से पूछें तो पता चलता है कि सपा का मतलब भय, दंगा, गुंडागर्दी, अराजकता, लूटपाट, किसी भी सज्जन एवं संभ्रांत व्यक्ति की प्रॉपर्टी व मकान पर कब्जा करना है।” बीजेपी को एक लोकतांत्रिक पार्टी बताते हुए सीएम योगी ने इस बात का जवाब भी दिया कि आखिर कैसे बीजेपी में इतने उलट फेर के बाद भी वह सीएम पद पर हैं। उन्होंने कहा, “व्यक्ति से बड़ा दल और दल से बड़ा देश’ यह भाजपा का संस्कार है। यह खानदानी व परिवार की पार्टी नहीं है। यहाँ पद नहीं, व्यक्ति का कार्य महत्वपूर्ण है।”

आगामी चुनावों में अपना मुद्दा विकास और राष्ट्रवाद को बताते हुए मुख्यमंत्री ने कॉन्ग्रेस, सपा, बसपा से कहा कि पिछले साढ़े चार साल में जितना विकास हुआ है बाकी पार्टियाँ अपने काम की उससे तुलना कर लें। राहुल गाँधी और अखिलेश यादव पर ‘पप्पू-बबुआ’ टिप्पणी करते हुए आगे योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अखिलेश यादव खुद भी जानते हैं कि इस बार किसकी सरकार बन रही है। वह जिस तरह से अधिकारियों और कर्मचारियों को धमकी दे रहे हैं, उससे उनकी बौखलाहट स्पष्ट झलक रही है।

योगी आदित्यनाथ बोले-“समाजवादी पार्टी ने बुंदेलखंड को शोषण का अड्डा बना दिया था। वहाँ की प्राकृतिक संपदा का दोहन होता था, परंतु विकास नहीं होता था। विपक्ष के एजेंडे में अगर कभी विकास होता, तो वह प्रदेश में दिखता। 1947-2017 तक 7 दशकों में केवल दो एक्सप्रेस वे बने थे। जिन्होंने गरीबों का उत्पीड़न किया था, सामान्य नागरिकों को खूब रौंदा था, उनके संपत्ति पर कब्जा किया था, उस अवैध व अनैतिक कमाई पर ही सरकार का बुलडोजर चला है और चलता रहेगा। मुजफ्फरनगर दंगा सत्ता द्वारा प्रायोजित था। अपने निकम्मेपन व नाकामयाबियों को छुपाने के लिए पिछली सरकार द्वारा निर्दोष लोगों पर जो मुकदमे दर्ज किए गए थे, उन्हें वापस होना ही था।”

इसके अलावा ‘अब्बा जान’ शब्द पर अपनी बात रखते हुए सीएम ने कहा, “मैंने किसी का नाम नहीं लिया… क्या अब्बा जान कोई असंसदीय शब्द है। किसी को इससे क्या परेशानी होगी। बता दें टाइम्स नाऊ नवभारत के 45 दिन पूरे होने पर नव-निर्माण मंच से योगी आदित्यनाथ ने अपनी यह सभी बातें कहीं। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि किस तरह सभी 9 करोड़ लोगो को कोरोना वैक्सीन की डोज देने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending