बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने दिया विवादित बयान, कहा; साधु-संतों का ध्यान भंग करती है अजान

हमेशा अपने विवादित बयानों के कारण चर्चाओं में रहने वाली बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने एक और नया विवादित बयान दे दिया है। दरअसल इस बार उन्होंने अजान को लेकर आपत्ति जताई कहा है कि इससे नींद खराब होती है। उनका कहना है की इससे न केवल साधु-संतों का ध्यान भंग होता है बल्कि मरीजों को भी परेशानी होती है। उन्होंने कहा कि सुबह पांच बजे के आसपास तेज आवाजें आने लगती हैं। इससे तमाम बीमारियों के मरीजों की नींद खुल जाती है और उन्हें तकलीफ होती है।

भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने आगे कहा कि, सुबह ब्रह्म मुहूर्त में साधु-संतों का साधना का समय भी होता है और आरती भी उसी दौरान होती है। इसके बाद भी सुबह सुबह तेज आवाजें आती रहती हैं। सांसद प्रज्ञा सिंह ने आगे कहा कि “भारत सनातन देश है। दूसरे देश के जन्म हुए हैं और हमारा देश को किसी ने नहीं जन्माया है। हमारा कभी मरण नहीं होगा जबकि जो भी देश जन्में हैं उनका अंत निश्चित है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की हम संतानें हैं।”

बता दें प्रज्ञा ठाकुर मंगलवार को बैरसिया में एक धार्मिक सभा को संबोधित कर रही थीं, जिसमें स्थानीय भाजपा विधायक विष्णु खत्री भी मौजूद थे। इस दौरान प्रज्ञा सिंह ने मुस्लिम समुदाय पर निशाना साधते हुए कहा कि, “ज्यादातर आरती ब्रह्म मुहूर्त में सुबह 4 बजे शुरू होती है। जब हमारा समुदाय प्रार्थनाओं के लिए लाउडस्पीकर लगाता है तो वे आपत्ति करते हैं। वो कहते हैं कि वो किसी अन्य धर्म की इबादत का शब्द नहीं सुन सकते हैं, क्योंकि हमारे धर्म में यह ठीक नहीं माना जाता है, हमारे खिलाफ है ये, जायज नहीं माना जाता।”

भोपाल की सांसद और बीजेपी नेता प्रज्ञा सिंह ठाकुर का यह बयान अब एक विवाद का रूप ले चुका है। जिस पर अब कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने भी आपत्ति जताई है। आरिफ मसूद ने कहा है कि, ” जब प्रधानमंत्री पूरे देश में एकता और सबका साथ सबका विकास की बात करते हैं तो सांसद प्रज्ञा सिंह इस तरह के बयान दे रही हैं। प्रज्ञा सिंह का इस तरह से बयान देना निंदनीय है।”

मसूद ने आगे कहा, “वह (प्रज्ञा सिंह ठाकुर) भोपाल की सांसद हैं, उनको अपनी गरिमा का खयाल रखना चाहिए। देश समझ रहा है कि इनकी असली सोच क्या है। आज जब हमीदिया अस्पताल में इतने बच्चों की मौत हुई है तो उस विषय को छोड़कर अजान का मुद्दा छोड़ दिया। मुद्दों से भटकाने की राजनीति पहले भी बीजेपी करती रही है, जहां तक हमीदिया अस्पताल में बच्चों की मौत का सवाल है, विभाग के मंत्री को तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए।”

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending