सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर बरसे बीजेपी नेता स्वतंत्र देव सिंह कहा, सियासी हैसियत खो चुके हैं अखिलेश

सपा प्रमुख अखिलेश यादव द्वारा आतंकियों के पकड़े जाने पर योगी सरकार पर सवाल उठाने को लेकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अखिलेश पर पलटवार करते हुए कहा है कि पंचायत चुनाव से लेकर संसदीय चुनाव तक में सियासी हैसियत खो चुके सपा प्रमुख को अब आत्म अवलोकन करना चाहिए।
बता दें कि पिछले दिनों अखिलेश ने कहा था कि जिन पर कानून व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी है वही कानून का मजाक बना रहे हैं। सत्ता के संरक्षण में पनप रहे अपराधियों ने पूरे प्रदेश में आतंक मचा रखा है। दलित, वंचित और समाज के कमजोर वर्गों के ऊपर भाजपा राज में लगातार अत्याचार हो रहा है। भाजपा मूल रूप से पूंजीघरानों और शोषक तत्वों की समर्थक पार्टी है।
जिसके पलटवार मे बीजेपी नेता ने कहा कि आंतकियों की पैरोकारी करने वाले लोगों के मुंह से अपराध व आतंक पर सवाल खडे़ करना शोभा नहीं देता है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोग पुलिस पर अविश्वास करके आतंकियों के हौसले बुलंद करने का काम कर रहे हैं। 
प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव ने पलटवार करते हुए आगे कहा कि लोकतंत्र की दुहाई देने वाले लोग जनादेश को स्वीकार करने के बजाय कभी खुलेआम अधिकारियों को सत्ता में आने पर निपट लेने की धमकी देते हैं।उन्होंने ने कहा कि सपा मुखिया को भी अब दबंगई, गुंडागर्दी के बल पर राजनीति करने की अपनी पुरानी परिपाटी बदलनी होगी।
 गौरतलब हो की अखिलेश ने सोमवार को योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि देश में दो सरकारें समानांतर काम कर रही हैं। भाजपा सत्ता का दुरुपयोग कर रही है तो संघ समाज का बंटवारा कर रहा है। इन दोनों के बीच जनता और विपक्षी कार्यकर्ता पिस रहे हैं। 
अखिलेश यादव ने आगे कहा था कि समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता भाजपा के अत्याचार का डटकर मुकाबला कर रहे हैं। भाजपा के हर षडयंत्र का जवाब दिया जाएगा। लोकतंत्र को बचाने के लिए समाजवादी पार्टी का संघर्ष जारी रहेगा।  अगला विधान सभा चुनाव 2022 लोकतंत्र को बचाने का चुनाव होगा।  

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending