राहुल गांधी पर जमकर बरसी बीजेपी, कहा – विदेशी ज्ञान लेकर हिंदुत्‍व की परिभाषा ना दें

हाल ही में कांग्रेस सासंद राहुल गांधी ने हिंदू धर्म और हिंदुत्व को अलग अलग बताते हुए हिंदुत्व को खूंखार बताया था। उन्होंने कहा था की हिंदुत्व केवल नफरत फैलाना और लोगो की हत्या व मॉब लिंचिंग करना जानता है। राहुल गांधी के बाद उन्हें लोगो की तीखी प्रतिक्रिया का सामना करना पड़ रहा है। उनके इस बयान को भारतीय जनता पार्टी के आईटी सेल इनचार्ज अमित मालवीय ने आड़े हाथों लेते हुए कांग्रेस पार्टी को ‘नई मुस्लिम लीग’ करार दिया है।

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए मालवीय ने कहा, “राहुल गांधी ने हिंदुओं, हिंदू धर्म और हिंदुत्व की विचारधारा का अपमान किया है, अगर उन्होंने कहा है कि हिंदुत्व हिंसा पर आधारित एक विचारधारा है। यह सब सुनियोजित तरीके से किया जा रहा है। पहले सलमान खुर्शीद ने अपनी किताब में हिंदू और हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस के विचारधारा के साथ की। उसके बाद राशिद अल्वी ने ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने वालों को राक्षस बताया।”

वहीं बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी राहुल गांधी को जमकर खरी खोटी सुनाते हुए कहा की कांग्रेस पार्टी का हिंदू धर्म पर प्रहार करना संयोग नहीं प्रयोग है। उन्होंने कहा की, “जब सलमान खुर्शीद हिंदू धर्म की बात करते हुए इसकी तुलता बोको हराम और आईएसआईएस से करते हैं, जब शशि थरूर हिंदू तालिबान और भगवा आतंकवाद की बात करते हैं, तो असल में ये संयोग नहीं होता, बल्कि प्रयोग होता है।”

संबित पात्रा ने आगे कहा, ”इस लैब के बड़े नेता राहुल गांधी है। राहुल गांधी के बाद ही शशि थरूर, सलमान खुर्शीद, दिग्विजय सिंह और मणिशंकर अय्यर जैसे लोग हिंदू धर्म के खिलाफ अपमानजनक बयान देते हैं।” उन्होंने कहा कि ये कांग्रेस का नेचर है कि जब भी उन्हें मौका मिलता है, वह हिंदू धर्म पर हमला करते हैं। उन्होंने कहा, ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि महज 24 घंटे के भीतर कांग्रेस ने हिंदू धर्म पर तीन बार हमला किया। पहले सलमान खुर्शीद, फिर अल्वी साहब और अब उनके सबसे बड़े नेता खुद राहुल गांधी।

इससे पहले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए था की, “हिंदुत्व पर बोलने से पहले उन्‍हें थोड़ा सनातन को जानना होगा। वे विदेशी ज्ञान लेकर आते हैं और हिंदुत्‍व पर बोलते हैं। ऐसा नहीं हो सकता।” गिरिराज सिंह ने कहा था, “हिंदुत्व जोड़ना सिखाता है तोड़ना नहीं। उन्‍हें सनातन को समझना होगा, सनातन को आगे बढ़ाने वाले संघ को समझना होगा। गुरुनानक देव जी ने सनातन की धर्म की रक्षा के लिए ही अलग सिख धर्म बनाया था क्या इन्हें मालूम नहीं।”

गौरतलब हो की शुक्रवार को पार्टी के डिजिटल ‘जन जागरण अभियान’ का उद्घाटन के दौरान राहुल गांधी ने कहा था कि अगर आप हिंदू हो तो आपको हिंदुत्व की क्या जरूरत है। राहुल ने कहा था कि आज लोग हिंदू धर्म और हिंदुत्व को एक समझने लगे हैं, जबकि ये दोनों अलग-अलग बातें हैं। उन्होंने दावा किया की हमारे देश में दो तरह की विचारधाराएं विद्यमान है। एक विचारधारा (हिंदू) जो कांग्रेस की जोड़ने की है और दूसरी नफरत की विचारधारा (हिंदुत्व) जो आरएसएस-बीजेपी की देन है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending