बिहार: बारिश से बर्बाद हुई फसलों की भरपाई के लिए पीड़ित किसानों को मुआवजा देगी नीतीश सरकार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आपदा प्रबंधन विभाग, जल संसाधन विभाग एवं कृषि विभाग के साथ मिलकर पिछले दो दिनों में वर्षा के कारण उत्पन्न हुई स्थिति की समीक्षा ली और बारिश की वजह से हुई बर्बादी का आकलन करने के लिए सभी जिला प्रशासन को आदेश दिया। इसके साथ ही उन्होंने जल संसाधन विभाग एवं कृषि विभाग को छोटी-छोटी नदियों को भी कनेक्ट करने की योजना बनाने का आदेश दिया है जिससे की जल संरक्षण हो सके और उससे सिंचाई कार्य में किसानों को काफी सुविधा हो सके।

समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सिंचाई कार्य को ठीक से देखने के साथ-साथ जल संसाधन विभाग बाढ़ से बचाव के स्थायी समाधान के लिए कार्य करे। जिन नदियों के किनारे तटबंधों का निर्माण बचा हुआ है उनका निर्माण कार्य जल्दी पूरा करें। उन्होंने कहा कि नदियों की उड़ाही के लिए योजना बनाकर काम करें। छोटी-छोटी नदियों को भी कनेक्ट करने की योजना बनाएं ताकि जल संरक्षण हो सके और उससे सिंचाई कार्य में किसानों को काफी सुविधा हो सके।

मुख्यमंत्री नीतिश कुमार 15 अक्टूबर के पहले सभी जगह की रिपोर्ट लेकर हुई फसल क्षति का आकलन कर पीड़ितो को मुआवजा देने का काम कर रहे है। उन्होंने जिला प्रशासन को आदेश देते हुए कहा है की, “पिछले 2-3 दिनों में भी वर्षा के कारण हुई फसल क्षति का फिर से एक बार आकलन कर लें। कोई भी प्रभावित क्षेत्र छूटे नहीं। सभी गाँवों में हुई फसल क्षति की जानकारी लें।” समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने कहा कि, पिछले 5-6 माह से लगातार बारिश हुई है। राज्य में इस मॉनसून अवधि के दौरान चार चरणों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हुई। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending