बिहार: कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए लोगों ने घरों में ही पढ़ी नमाज, शांतिपूर्ण तरीके से मनाया पर्व

बिहार की राजधानी पटना समेत सभी शहरी मे सभी अकीदतमंदों अपने-अपने घरों में पढ़ी नमाज़, करोना के खौफ के साये में मनाया बकरीद का जश्न। बिहार के ग्रामीण इलाकों में पुलिस की मुस्तैदी के बीच कुर्बानी का पर्व बकरीद मनाया जा रहा है। 

बुधवार को कड़ी सुरक्षा के बीच बकरीद का पर्व पूरे प्रदेश में शांति एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाया जा रहा है। पर्व को मनाने को लेकर प्रशासन की ओर से सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये गये हैं। संवेदनशील स्थलों पर रैपिड एक्शन फोर्स की तैनाती की गई है।

इतना ही नही पटना के फुलवारी शरीफ में रैफ की तैनाती की गयी है। माहौल शांतिपूर्ण बनाये रखने को लेकर रैफ जवानों ने फ्लैग मार्च किया गया। मसौढ़ी अनुमंडल के सभी संवेदनशील जगहों पर पुलिस एवं मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है। पुलिस की लगातार पेट्रोलिंग की जा रही है। खासकर मस्जिद और इमामबाड़ा के पास पुलिस की तैनाती की गई है। कुर्बानी पर्व ईद उल जुहा यानी बकरीद करोना के खौफ के साये में मनाया जा रहा है।

सभी अपने-अपने घरों में नमाज पढ़ रहे हैं और अल्लाह से दुआ कर रहे हैं कि कोरोना महामारी से हमें और हमारे देश को बचाएं। गौरतलब है कि कभी मस्जिदों के गलियारे बकरीद के दिन गुलजार हुआ करते थे। इमामबाड़ा के आंगन में सभी अकीदतमंद एक-दूसरे के गले मिलकर मुबारकबाद दिया करते थे। आज करोना महामारी ने सभी अपनों को एक-दूसरे से अलग-थलग कर दिया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending