बिहार: दहेज की भूख से नही भरा पेट तो कर दी बीवी की हत्या, लाश के सैकड़ों टुकड़े कर मिट्टी में दफनाया

हमारे देश में हर दो मिनट में एक बहु , एक बेटी और एक पत्नी की हत्या होती है। जिसका कारण दहेज होता है। जी हां, वर्तमान समय मे भी दहेज की भूख विद्यमान है और ऐसी ही एक दहेज की भूख के कारण फिर एक बेटी, बहू और पत्नी को मौत के घाट उतार दिया गया। ससुराल वालों पर शादी के बाद दहेज और लालच का ऐसा भूत सवार हुआ कि एक साल पहले ब्याह कर लाई गई बहू को ही मौत के घाट उतार दिया।

आरोप है कि ससुराल वालों ने हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए विवाहिता की पहले हत्या की और बाद में शव को कई टुकड़ों में काट कर दफना भी दिया। पिता की खोजबीन के बाद हत्‍या की सनसनीखेज घटना का खुलासा हुआ। 
दरअसल, पटना के सालिमपुर थाना क्षेत्र केअरविंद कुमार यादव की बेटी काजल की शादी हिलसा थाना क्षेत्र के नोनिया बीघा गांव निवासी जगत प्रसाद यादव के बेटे संजीत यादव के साथ 27 जून 2020 को हुई।

कुछ दिनों बाद नौकरी के नाम पर मायेकवालों से चार लाख रुपये की मांग शुरू हो गई। पैसे नहीं देने पर महिला को ससुराल में मानसिक, शारीरिक प्रताड़ना देना शुरू हो गया। इसकी जानकारी काजल ने अपने पिता को दी। 
इस मामले को लेकर सामाजिक पंचायत का आयोजन किया गया। लड़की के पिता ने सामाजिक पंचायत कर इसी साल फरवरी माह में 80 हजार रुपये दिये। उसके बावजूद भी दहेज लोभियों का मन नहीं भरा।

पैसे की मांग पूरी नहीं होने पर गर्भवती काजल कुमारी की हत्या कर शव को छिपा दिया। इसके बाद घर में ताला लगाकर फरार हो गये। मामले की तफ्तीश के लिए पहुंचे हिलसा थानाध्यक्ष श्याम किशोर सिंह ने बताया कि फिलहाल मृतका के पिता अरविंद सिंह ने पति संजीत कुमार समेत कुल 5 लोगों पर बेरहमी से काजल की हत्या का मामला दर्ज कराया है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है तथा सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी कर रही है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending