बिहार: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ग्रस्त इलाको लिया जायजा, मुख्य नहर दीघा बांध का किया निरीक्षण

गंगा और पुनपुन नदी उफान पर है और इसकी वजह से पटना जिले के कई गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. इसे लेकर पटना जिला प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट मोड पर भी है. इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज बुधवार को पटना व हाजीपुर के बाढ़ग्रस्त इलाके का जायजा लिया. उन्होंने सड़क मार्ग से एक-एक चीज को देखा. साथ चल रहे अधिकारियों को उन्होंने आवश्यक निर्देश भी दिया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना के मुख्य नहर का दीघा बांध का निरीक्षण भी किया.

सड़क मार्ग से निरीक्षण के लिए निकल सीएम नीतीश ने कुर्जी गोसाईं टोला के समीप भी बाढ़ की स्थिति का जायजा भी लिया. मुख्यमंत्री ने पटना के एलसीटी घाट पर पटना शहर सुरक्षा दीवार का निरीक्षण किया. इसके बाद गांधी घाट पर गंगा नदी में बाढ़ आई बाढ़ भी देखी. दीघा ब्लॉक से जे पी सेतु होते हुए हाजीपुर की ओर रवाना हो गए. इससे पहले सीएम नीतीश ने गांधी सेतु होते हुए गांधी घाट तक का भी निरीक्षण किया और अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए.

बता दें राजधानी के सभी घाटों पर गंगा का पानी चढ़ चुका है और अब लोगों को शव के अंतिम संस्कार के लिए जगह नहीं मिल पा रही है. राजधानी के बांस घाट, गुलबी घाट, दीघा घाट समेत सभी घाट डूब चुके हैं. ऐसे में सड़क किनारे ही शवों को जलाना पड़ रहा है. सबसे ज्यादा भीड़ दीघा घाट पर देखने को मिल रही है. दीघा घाट पर हाल ही बना मोक्ष धाम भी डूब चुका है.

पटना शहर में जल जमाव के हालात ना हो इसके लिए बुडको की तरफ से भी कुछ जगहों पर पम्प लगा कर शहर के पानी को बाहर निकाला जा रहा है. पटना में बाढ़ (Bihar Flood) की निगरानी के लिए फ़्लड फाइटिंग के अधिकारी भी लगातार नजर रखे हैं. इस पर डीएम ने बताया कि कई जगह गंगा खतरे के निशान से ऊपर है, लेकिन फिलहाल पटना शहर पर बाढ़ का खतरा नहीं है. पर हालात पर लगातार नजर रखी जा रही है.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending