योगी सरकार का बड़ा फैसला,गरीबों के खातों में डाले जाएंगे पैसे, मुफ्त में मिलेगी राशन पानी

शुक्रवार को हुई बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया कि संगठित क्षेत्र के श्रमिकों को दो बार तथा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को एक बार भरण-पोषण भत्ता दिया गया. इसके साथ ही, 15 दिन के राशन की किट भी मिलेगी.
कोविड वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी श्रमिकों, गरीब परिवारों को वित्तीय सहायता और राशन देने के योजना बनाई है.

बैठक के दौरान सीएम योगी ने कहा,” पिछले साल राज्य सरकार ने कोविड-19 की चुनौती का सामना करने के साथ ही विभिन्न कार्यों को आगे बढ़ाया था.
उत्तर प्रदेश पहला राज्य था, जिसने श्रमिकों, स्ट्रीट वेंडरों, रिक्शा चालकों, कुलियों, पल्लेदारों आदि को भरण-पोषण भत्ता ऑनलाइन दिया. भरण-पोषण के रूप में दिए गए पैसे ने उनके जीवन को बचाने का काम किया.
संगठित क्षेत्र के श्रमिकों को दो बार तथा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को एक बार भरण-पोषण भत्ता दिया गया. इसके साथ ही, 15 दिन के राशन की किट भी दी गई.”योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि इस वर्ष भी जरूरतमंदों को भरण-पोषण भत्ता और राशन उपलब्ध कराया जाएगा.
इसके साथ ही सीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि भरण/पोषण भत्ता के पात्र लोगों की सूची अपडेट कर ली जाए. इसी तरह, राशन वितरण कार्य की व्यवस्था की समीक्षा कर ली जाए.

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कोरोना के बढ़ते प्रसार को ध्‍यान में रखते हुए दूसरे प्रदेशों से पलायन कर रहे प्रवासी मजदूरों की जरूरतों की पूर्ति करने के आदेश दिए हैं। महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली समेत दूसरे राज्‍यों से पलायन कर रहे मजदूरों के लिए इन क्वारेंटाइन सेंटर में सभी सुविधाएं होंगी. दूसरे प्रदेशों से यूपी आने वाले इन प्रवासी मजदूरों की जांच कर रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर इन सेंटर में रखा जाएगा जहां चिकित्‍सीय सुविधाओं संग खाने पीने की व्‍यवस्‍था का पूरा इंतजाम योगी सरकार करेगी. शुक्रवार तक 60 जनपदों में ऐसे क्वारन्टीन सेंटर सक्रिय हो चुके थे.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending