पंजाब सरकार का बड़ा फैसला, लालकिला हिंसा मामले में प्रभावित किसानों को दो-दो लाख रुपये देने का किया ऐलान

पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाला है। लेकिन इसका असर अभी से दिखना शुरू हो चुका है सभी राजनीतिक दलों ने अपनी अपनी कमर कस ली है। इस बीच पंजाब के नवयुक्त मुख्यमंत्री चरण जीत सिंह चन्नी ने 26 जनवरी को दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान भड़की हिंसा के बाद अरेस्ट हुए किसानों को आर्थिक मदद का ऐलान किया है। उन्होंने ऐसे 83 किसानों को दो-दो लाख रुपये देने का ऐलान किया है।

इसकी जानकारी खुद पंजाब के सीएम चन्नी ने ट्वीट कर दी, कहा, “तीन काले कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के विरोध का समर्थन करने के लिए मेरी सरकार के रुख को दोहराते हुए, हमने 26 जनवरी, 2021 को राष्ट्रीय राजधानी में ट्रैक्टर रैली करने के लिए दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए 83 लोगों को 2 लाख रुपये का मुआवजा देने का फैसला किया है।” इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार किसानों का समर्थन करती रही और आगे भी करेगी।

इससे पहले पंजाब सरकार ने इस साल जनवरी में किसान आंदोलन के दौरान दिल्ली की सीमाओं पर विभिन्न कारणों से जान गंवाने वाले आंदोलनकारी किसानों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये की मदद और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया था। इस ऐलान के तहत उक्त पीड़ित परिवारों को मदद भी दी जा चुकी है। वहीं अब मुख्यमंत्री चन्नी ने लाल किला हिंसा मामले में प्रभावित किसानों को भी मदद देने का फैसला लिया है। 

गौरतलब हो की जनवरी में किसानों ने तीन कृषि कानूनों को रद करने की मांग को लेकर ट्रैक्टर मार्च किया था। इस दौरान बड़ी संख्या में किसान लाल किले तक पहुंच गए थे। यहां तक कि वहां धार्मिक झंडा भी फहरा दिया गया था। इसके बाद दिल्ली में हिंसा हुई थी। हिंसा में दो लोगों की मौत भी हो गई थी और कुछ किसान घायल हो गए थे। जिसके बाद पंजाब सरकार ने ऐलान किया था की वह दिल्ली हिंसा में आरोपित किसानों के केस पंजाब सरकार मुफ्त लड़ेगी।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending