पाकिस्तान सरकार का बड़ा फैसला, टैक्स नहीं तो वोट का हक भी नहीं

सोमवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के फाइनेंस एडवाइजर शौकत तरीन ने एक बयान देकर पाकिस्तान में हलचल मचा दी है। दरअसल उनका कहना है की मुल्क में जो लोग इनकम टैक्स और जीएसटी नहीं देंगे, उनको मतदान का अधिकार भी नहीं मिलेगा यानी की इनकम टैक्स और जीएसटी का पेमेंट सभी को करना होगा। बता दें कि शौकत तरीन पाकिस्तान के पूर्व वित्त मंत्री रह चुके है। हालांकि सीनेट के लिए नहीं चुने जाने पर उन्हें अपना पद छोड़ना पड़ा था। जिसके बाद इमरान ने उन्हें रातों-रात अपना फाइनेंस एडवाइजर बना दिया था।

सोमवार को राजधानी इस्लामाबाद में कामयाब जवान कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे शौकत तरीन ने कहा, “पाकिस्तान के तमाम कारोबारियों से मैं एक बात जोर देकर कहना चाहता हूं। हर बिजनेसमैन को टैक्स तो देना ही होगा। अगर वो टैक्स नहीं देंगे तो फिर उन्हें वोटिंग का अधिकार भी नहीं मिलेगा। इनकम टैक्स और जीएसटी देंगे तो बाकी टैक्स में कटौती की जी सकती है। अब हम लोगों से टैक्स देने की भीख नहीं मांगेंगे। अगर छोटे और मध्यम कारोबार और आईटी सेक्टर वालों के पास पैसा नहीं है तो सरकार उनकी मदद करने को तैयार है।”

फाइनेंशियल एडवाइजर तरीन ने देश को आगे ले जाने के लिए कृषि, लघु और मध्यम उद्यमों और आईटी क्षेत्र को पूरी तरह से समर्थन देने का आश्वासन देते हुए कहा कि एसएमई और आईटी क्षेत्र से जुड़े लोगों को मनी ऑफर करने के लिए एक फंड की स्थापना की जाएगी। उन्होंने कहा कि युवा कार्यक्रम की एक अन्य पहल के तहत ब्याज मुक्त कृषि और बिजनेस लॉन दिया जा रहा है, जिसे लगभग 40 लाख हाशिए के परिवारों के डेवलपमेंट के लिए शुरू किया गया है। बता दें शौकत तरीन और उनके भाई जहांगीर तरीन पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हैं। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending