तालिबान के कब्जे के बाद बोले अशरफ गनी- खून-खराबे से बचने के लिए भागा हूं, अब अफगान की रक्षा करे तालिबान

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बीच देश छोड़कर भागने वाले राष्ट्रपति अशरफ गनी ने रविवार देर रात फेसबुक पोस्ट के जरिए देश छोड़ने की वजह बताते हुए लिखा की वह इसलिए अफगानिस्तान से भागे ताकि लोगों को ज्यादा खून-खराबा न देखना पड़े। गनी ने अपनी पोस्ट में लिखा है कि अगर वह अफगानिस्तान में रुके होते तो बड़ी संख्या में लोग देश के लिए लड़ने आते। ऐसे में वहां असंख्य लोगों की जान जाती। साथ ही काबुल शहर पूरी तरह से बर्बाद हो जाता।

उन्होंने लिखा कि अब तालिबान जीत चुका है। अब वह अफगान लोगों के सम्मान, संपत्ति और सुरक्षा के लिए जिम्मेदार है। अशरफ गनी ने लिखा है कि तालिबान एक ऐतिहासिक टेस्ट का सामना कर रहा है। अब या तो वो अफगानिस्तान के नाम और सम्मान को बचाएंगे। या फिर अन्य जगहों और नेटवर्क को वरीयता देंगे। 

गौरतलब है कि तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया है। समाचार एजेंसी एएफपी ने तीन वरिष्ठ तालिबान सूत्रों के हवाले से बताया कि लड़ाकों ने प्रेसीडेंशियल पैलेस पर कब्जा कर लिया है। वो यहां पर काबुल की सुरक्षा के लिए मीटिंग कर रहे हैं। 

इससे पूर्व शांति प्रक्रिया के प्रमुख अब्दुल्ला-अब्दुल्ला ने अफगानिस्तान को इस हालात में पहुंचाने के लिए अशरफ गनी को जिम्मेदार बताया। इस बीच अफगानिस्तान में हालात बेहद नाजुक हैं। वहीं काबुल हवाई अड्डे से उड़ानों को बंद कर दिया गया है। हालांकि अभी तक यह सामने नहीं आ पाया है की अशरफ गनी इस समय कहां है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending