संसद में हंगामे के बीच विपक्षी सांसदो पर बरसे अनुराग ठाकुर बोले- घड़ियाली आंसू बहाने की बजाए माफी मांगे विपक्ष

बुधवार को संसद के मॉनसून सत्र के दौरान पेगागस, महंगाई, कृषि कानून समेत कई मुद्दों पर चर्चा की मांग को लेकर विपक्ष द्वारा हंगामा मचाए जाने पर अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने तंज कसते हुए कहा है की पीएम मोदी ने नये मंत्रियों से कहा कि राज्यसभा में जाएं और गुणवत्ता से भरे डिबेट्स को सुनें। लेकिन उन मंत्रियों ने हमसे पूछा कि वहां मे टेबल क्या नाचने के लिए रखे गये हैं या फिर वहां टेबल किसी अन्य वजह से रखे गये हैं।

उन्होंने आगे कहा, कि देश की जनता इंतजार करती है कि उनसे जुड़े हुए विषयों को सदन में उठाया जाए, वहीं विपक्ष का सड़क से संसद तक एकमात्र एजेंडा सिर्फ अराजकता रहा। घड़ियाली आंसू बहाने की बजाए इनको (विपक्ष) देश से माफी मांगनी चाहिए। इस पर केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने भी विपक्षी सांसदों को इस मुद्दे पर घेरते हुए कहा- “एक दिन पहले कुछ सांसद संसद में टेबल पर चढ़ गये।

वो खुद पर गर्व महसूस कर रहे थे। वो सोच रहे थे कि उन्होंने बहुत महान काम कर दिया है। उन्होंने इसका वीडियो शूट करने के बाद ट्वीट किया। वीडियो शूटिंग की अनुमति नहीं है। यह लोकतंत्र की हत्या था। देश देख सकता है कि उनलोगों ने संसद में क्या किया। अगर उन्हें जिम्मेदारियों का एहसास है तो उन्हें देश से माफी मांगना चाहिए।

हमने भी अध्यक्ष से मांग की है कि इसपर कड़ा एक्शन लिया जाए ताकि ऐसी घटना दोबारा ना हो। “बता दें संसद के मॉनसून सत्र के दौरान विपक्ष लगातार हंगामा करता रहा। इस हंगामे के चलते दोनों की सदनों की कार्यवाही प्रभावित होती रही। हालात उस समय ज्यादा बिगड़ गए जब हंगामा कर रहे विपक्षी सासंदों को रोकने के लिए मार्शलों की मदद लेनी पड़ी। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending