अमेरिकी वैज्ञानिकों ने बनाया दुनिया का सबसे ज्यादा सफेद पेंट, घटाएगा ग्लोबल वार्मिंग का असर

अमेरिकी वैज्ञानिकों ने दुनिया का सबसे ज्यादा सफेद पेंट बनाकर अपना नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज करा लिया है। माना जा रहा है की यह सफेद पेंट ग्लोबल वार्मिंग के असर को भी घटाने में कामयाब होगा। अनुमान है कि यह नया पेंट सूर्य की 98.1 फीसदी किरणों को परावर्तित कर सकता है जिस वजह से इमारतों और घरों का तापमान कई डिग्री तक कम हो जाता है।

यह पेंट पड्र्यू विश्वविद्यालय में मैकेनिकल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर जिउलिन रुआन और उनकी टीम ने बनाकर तैयार किया है। प्रोफेसर रुआन ने बताया, “सात साल पहले हमने इस प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू किया था तो हमारे दिमाग में ऊर्जा की बचत और जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे थे। इस पेंट में उच्च मात्रा में बेरियम सल्फेट मिलाया गया है जिसका इस्तेमाल फोटो पेपर और ब्यूटी प्रोडक्ट को सफेद बनाने में किया जाता है।”

उन्होंने आगे कहा कि, ” इसके अलावा इसमें बेरियम सल्फेट के सभी कण अलग-अलग आकार के होते हैं और प्रत्येक कण अलग-अलग मात्रा में प्रकाश परिवर्तित करता है। कण जितना बड़ा होगा उतना ज्यादा प्रकाश परिवर्तित करेगा।” रुआन का दावा है कि यदि आप लगभग 1,000 वर्ग फीट की छत इस पेंट को करते हैं तो हमारा अनुमान है कि इससे आप 10 किलोवाट के एसी जितनी ठंडक प्राप्त कर सकते हैं। यह इतनी कूलिंग है जो आम घरों को पूरी तरह ठंडा करने के लिए लगाए गए सेंट्रल एयर कंडीशनर से भी ज्यादा है।

रिसर्च के मुताबिक, सूरज की सबसे ज्यादा तेज किरणें किसी भी बिल्डिंग या घर की छत पर पड़ती हैं। यह पेंट इन किरणों को परावर्तित कर देगा। ऐसा होने पर महंगे एयरकंडीशनर की जरूरत नहीं पड़ेगी। एयर कंडीशनर का ग्रीनहाउस गैस के उत्सर्जन में बड़ा रोल होता है। जो पर्यावरण के लिए खतरा है। शोधकर्ताओं का कहना है, इस पेंट में कैल्शियम कार्बोनेट है। यह केमिकल लाइमस्टोन और चॉक में पाया जाता है। इस पेंट में कैल्शियम कार्बोनेट काफी मात्रा में इस्तेमाल किया गया है। यह रसायन सस्ता होता है, इसलिए इस पेंट को बड़े स्तर पर सस्ती कीमत में उपलब्ध कराना आसान हो सकेगा

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending