अमेरिकी वैज्ञानिकों ने विकसित किया छींक की आवाज सुनकर बीमारी का नाम बताने वाला ऐप

अमेरिकी वैज्ञानिकों ने एक ऐसा ऐप तैयार किया है जो इंसान की छींक की आवाज सुनकर बताएगा कि वो किस बीमारी से जूझ रहा है। इस ऐप को विकसित करने वाली अमेरिकन कंपनी हाइफी इंक ने दावा किया है की यह सटीक नतीजे देगा, इसके लिए इसमें अलग-अलग तरह की बीमारियों में आने वाली खांसी की लाखों आवाजें शामिल की गईं। ये आवाजें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से बताती हैं कि मरीज को क्या परेशानी हो सकती है।

भविष्य में अस्थमा, निमोनिया या कोरोना जैसी बीमारी होने पर पता चल सकेगा कि इंसान कितनी गंभीर स्थिति में है। ऐप को तैयार करने वाली कम्पनी के चीफ मेडिकल ऑफिसर और टीबी एक्सपर्ट डॉ. पीटर स्माल का कहना है, अलग-अलग बीमारियों में खांसने की आवाज भी बदल जाती है। जैसे, कोई अस्थमा से जूझ रह है तो उसकी सांस और खांसी में एक तरह की घरघराहट होती है। 

वहीं, निमोनिया के मरीजों में फेफड़ों से अलग तरह की आवाज आती है। ऐप में मौजूद आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस अलग-अलग खांसी की आवाजों के पैटर्न को समझती है। इन आवाजों को सुनकर ऐप उन बीमारियों के बारे में बता सकता है जिसे आमतौर पर इंसान नहीं समझ पाते। शोधकर्ताओं के मुताबिक, यह स्टडी स्पेन में की जा रही है। मोबाइल में यह ऐप डाउनलोड की गई है। चेक किया जा रहा है कि तेज आवाज आने पर ऐप कैसे रिएक्ट करता है, इसकी जांच की जा रही है। ट्रायल पूरा होने के बाद यह ऐप आम लोगों के लिए उपलब्ध हो सकती है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending