अमेरिकी वैज्ञानिकों का दावा; इंसानों की तरह बंदर भी जूझते है तनाव से

अमेरिका की पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने बंदरों पर एक रिसर्च की। रिसर्च में सामने आया कि बंदरों में परफॉर्मेँस का दबाव बढ़ने पर ये घुटन महसूस करते हैं। जब बात पुरस्कार जीतने की आती है तो यह दबाव और बढ़ जाता है। रिसर्च के दौरान 3 बंदरों को ट्रेनिंग दी गई। ट्रेनिंग के दौरान इन्हें समझाया गया कि रिवॉर्ड कितना बड़ा है। इसके साथ ही इन्हें छोटे, मध्यम, बड़े जैकपॉट रिवॉर्ड को पाने के लिए ट्रेंड किया गया।

ट्रेनिंग के दौरान धीरे-धीरे रिवॉर्ड का आकार बढ़ाया गया। वैज्ञानिकों ने पाया जैसे-जैसे रिवॉर्ड बढ़ता है इनकी परफॉर्मेंस में भी इजाफा हुआ। लेकिन जब सबसे बड़े रिवॉर्ड की बारी आई तो ये अधिक तनाव में आ गए। वैज्ञानिकों का कहना है, जब बंदरों के सामने जैकपॉट यानी सबसे बड़ा इनाम रखा गया तो 25 फीसदी बंदर फेल हो गए। इसकी वजह है जैकपॉट को जीतने के लिए बंदरों का अधिक दबाव में आ जाना।

रिसर्च के मुताबिक, जिस तरह इंसान ऑडियंस के सामने परफार्मेंस देते हुए दबाव में आ जाता है वैसा ही बंदरों के साथ भी होता है। पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों का कहना है, बिहेवियर के मामले में इंसान और बंदर कुछ हद तक मिलते-जुलते हैं। रिसर्च में यह साबित भी हुआ है। रिसर्च के दौरान प्रमाण भी मिले हैं कि बंदर अपने बिहेवियर पर खुद नजर रखते हैं। वो कितना खुश हैं और कितना नर्वस ये बखूबी समझते हैं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending