इलाहाबाद विश्वविद्यालय: कोविड-19 के शिकार हुए छात्र-छात्राओं के लिए छात्र राहत कोष निधि के तहत धनराशि देने की उठी मांग

उत्तर प्रदेश। अनशन स्थल सभा पर छात्र नेता अजय सम्राट ने कहा कि प्रत्येक छात्र छात्राएं इलाहाबाद विश्वविद्यालय में दाखिला लेने के उपरांत 20 रु डेलीकेसी के लिए 100 रु डेवलपमेंट के लिए 52 रु मेडिकल इंश्योरेंस के लिए 10 रु छात्रसंघ के लिए 20 रु सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए 10 रु गरीब छात्रों के कल्याण के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन लेता हैं लेकिन विगत ढाई वर्षो से इलाहाबाद विश्वविद्यालय में न तो छात्रसंघ चुनाव हुए और न ही विश्वविद्यालय में कोई कार्यक्रम आखिर छात्रों का दिया हुआ पैसा विश्वविद्यालय प्रशासन के तिजोरी में रखा पड़ा है विश्वविद्यालय प्रशासन से हमारी मांग है की जो छात्र छात्राएं कोविड-19 के शिकार हो गए हैं अपनी जान से हाथ धो बैठे पीड़ित परिजनों उनके माता-पिता को छात्र राहत कोष निधि के तहत धनराशि उपलब्ध कराई जाए*
इस मौके पर छात्र नेता राहुल पटेल, अशीष आर्या, अरविंद्र यादव,अभिषेक यादव,मो सलमान,मुबाशिर हारून, अमित यादव, सलमान इलाहाबादी, आदि लोग उपस्थित रहे।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending