इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी में लॉकडाउन लगाने का दिया आदेश, योगी सरकार ने किया इंकार

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने सोमवार 19 अप्रैल शाम उत्तर प्रदेश के 5 शहरों में लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया था।
बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रयागराज, लखनऊ, वाराणसी, कानपुर और गोरखपुर में आगामी 26 अप्रैल तक लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया था। वहीं इस आदेश के आने के बाद योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार ने भी स्पष्ट किया है कि वह लॉकडाउन नहीं लगाएगी।
योगी सरकार ने अपने जवाब में कहा कि, “प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़े हैं और सख्ती कोरोना के नियंत्रण के लिए आवश्यक है। सरकार ने कोरोना की रोकथाम के लिए कई कदम उठाए हैं, आगे भी सख्त कदम उठाए जा रहे हैं. जीवन बचाने के साथ गरीबों की आजीविका भी बचानी है। अतः शहरों में सम्पूर्ण लॉकडाउन अभी नहीं लगेगा. लोग स्वतः स्फूर्ति के भाव से कई जगह बंदी कर रहे हैं. अदालत ने यह लॉकडाउन आज रात 10 बजे से 26 अप्रैल की सुबह तक लगाने को कहा है”।

आगे की सुनवाई 26 अप्रैल सुबह 11 बजे मामले होगी। लॉकडाउन का आदेश जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा और जस्टिस अजीत कुमार की डिवीजन बेंच ने दिया था।
बता दें कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने सोमवार को उत्तर प्रदेश सरकार को राज्य के पांच जिलों में सभी प्रतिष्ठानों को बंद करने का आदेश दिया था। हाईकोर्ट ने कहा था कि चाहे निजी हो या सरकारी सभी प्रतिष्ठानों को 26 अप्रैल तक बंद कर दें, केवल आवश्यक सेवाओं को छूट दी जाए। 

Tegs;

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending