दिल्ली में शराबियों की बल्ले बल्ले, बोतलों पर मिल रही भारी छूट ने दुकानों पर बढ़ाई भीड़

कहते हैं पीने वालों को पीने का बहाना चाहिए। शराब  कितनी भी महंगी क्यों ना हो जाए पीने वाले पीने से पीछे नहीं हटते, लेकिन सोने पर सुहागा तब हो जाता है जब शराब सस्ती हो जाए। जी हां, राजधानी दिल्ली में इन दिनों शराबियों की बल्ले-बल्ले हो गई हैं। दरअसल, राजधानी दिल्ली में शराब की कीमतों पर मिल रही भारी छूट का फायदा इन दिनों शराबी जमकर उठा रहे हैं। राजधानी दिल्ली में अभी 25 प्रतिशत तक की छूट शराब विक्रेताओं द्वारा दी जा रही है जहां इस खबर ने खूब सुर्खियां बटोरी हैं। दिल्ली में मिल रही शराब पर छूट को लेकर कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं। 

लोग ये सोच रहे हैं कि आखिर दिल्ली में शराब इतनी सस्ती कैसे मिल रही है और इतना बड़ा छूट देकर दुकानदार फायदा आखिर कैसे कमा पा रहे हैं ? दिल्ली में शराब ऊपर मिल रही छूट दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे देश में चर्चा का विषय बन हुई है। अक्सर, ये सवाल किया जा रहा है कि आखिर दिल्ली में शराब पर इतनी छूट आखिर कैसे मिल रही है ? एक और जहां कुछ दिन पहले जहां शराब विक्रेता दिल्ली में कारोबार में हो रहे नुकसान का हवाला देते हुए दिल्ली की केजरीवाल सरकार से राहत की मांग कर रहे थे, वहीं अब कहा जा रहा है कि दिल्ली में जो जितना शराब बिक्री कर सकेगा उससे उतना ही फायदा होगा। ऐसे में शराब विक्रेताओं द्वारा छूट देने की होड़ सी मच गई है और इस तरह दिल्ली में जमकर शराब पर छूट मिल रही है। 

बात अगर वर्तमान की करें तो दिल्ली में अभी शराब पर 25% तक की छूट मिल रही है। लेकिन वहीं इससे पहले फरवरी है ये छूट 50% थी।। वहीं 50% तक शराब पर छूट को लेकर जब सवाल खड़े हुए तो दिल्ली सरकार ने 50% की छूट के बजाय इसे 25% छूट पर बेचने की अनुमति दी और इसके बाद तभी से शराब की बिक्री में काफी बढ़ोतरी हो गई। दिल्ली के आसपास के शहर जैसे कि नोएडा गाजियाबाद फरीदाबाद गुड़गांव से लोग दिल्ली शराब खरीदने के लिए आ रहे हैं क्योंकि यहां पर शराब पर 25% तक छूट मिल रही है। इसका हर कोई फायदा उठाना चाहता हैै।

बताया जा रहा है कि इस समय जो जितना शराब बेच पाएगा उसे उतना ही फायदा होगा जिस कारण से इन दिनों शराब की बिक्री भी तेज हुई है और दुकानदारों को फायदा भी हो रहा है। इसके अलावा एक और बात जो यहां जानने की जरूरत है। वह ये है कि दिल्ली सरकार ने नई शराब नीति के तहत 2021-22 में राजधानी दिल्ली में शराब बिक्री का पूरा प्रबंधन जो है वह निजी हाथों के दिन दे दिया है। इसके साथ ही सरकार खुदरा विक्रेता कंपनियों से शराब की बिक्री से पूर्व ही लाइसेंस शुल्क के रूप में 300 करोड़ रुपए ले चुकी है। वहीं दिल्ली सरकार द्वारा सभी ब्रांडो का एमआरपी तय कर दिया है।

यही नहीं साथ ही दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली में शराब विक्रेताओं को ये अनुमति दे दी गई है कि वे एमआरपी के नीचे भी शराब दे सकते हैैं। यहीं से जो है शराब में छूट देने का खेल शुरू हुआ है। यही कारण है कि दिल्ली में शराब की दुकानों पर शराब खरीदने वालों की भीड़ सी लगी रहती है। 25 % छूट मिलने के कारण लोग जमकर शराब की खरीदारी कर रहे हैं। 

ReplyForward

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending