AIIMS ने दी चेतावनी कहा- लापरवाही न करें, डेढ़ से 2 महीने में भारत आ सकती है कोरोना वायरस की तीसरी लहर

बीते कुछ दिनों से भारत में कोरोना की दूसरी लहर लगभग थम चुकी है। तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने अपने अपनें राज्यों में लगे प्रतिबंध पर अब ढील देना शुरू कर दिया है। इसी तरह देश की राजधानी दिल्ली में भी लगा लॉकडाउन पूरे तरीके से हटा दिया गया है। इस बीच भारत में कोरोना वायरस की तीसरी लहर आने की आशंका भी जाहिर की गई है और अब एम्स के चीफ रणदीप गुलेरिया ने बयान दिया है कि अगले 6 से 8 हफ्तों में यानी की 2 महीने के अंदर भारत में कोविड-19 की तीसरी लहर दस्तक दे सकती है। 

एम्स चीफ रणदीप गुलेरिया ने बताया की, ‘हमने अनलॉक की प्रक्रिया शुरू कर दी है और फिर से कोरोना नियमों का पालन करने में लापरवाही देखी जा रही है। ऐसा लगता है जैसे पहली और दूसरी लहर में जो कुछ हुआ, हमने उससे कुछ सीखा नहीं। फिर से भीड़ जमा हो रही है। लोग इकट्ठे हो रहे हैं। राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना संक्रमण के आंकड़े बढ़ने में समय लगेगा लेकिन अगले 6 से आठ हफ्तों में केस बढ़ने लगेंगे..या कुछ और देर से। यह सब निर्भर करता है कि हम कैसे कोरोना नियमों का पालन कर रहे हैं और भीड़ इकट्ठा होने से रोक रहे हैं।’

गौरतलब हो की कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने भारत की जड़े हिला कर रख दी थी। कोरोना ने सरकार के वादों इरादों से लेकर अस्पतालों की बदहाली तक का सारा कच्चा चिट्ठा खोल कर रख दिया। अस्पतालों में बिस्तर की कमी के साथ ही मेडिकल सप्लाई की भी कमी हो गई थी। दूसरी लहर के बीच कई राज्यों ने सख्त प्रतिबंध लागू किए थे, जिनमें अब ढील दी जा रही है। इसी को लेकर एम्स चीफ ने अगले दो महीने में कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका जाहिर की है। 

बता दें की कोरोना संक्रमण ने दुनियाभर में अब तक 40 लाख से ज्यादा लोगों की जान ले ली है। इसमें 50 फीसदी हिस्सेदारी भारत, अमेरिका, ब्राजील, रूस और मेक्सिको शामिल हैं। वहीं, भारत में बीते 24 घंटे के अंदर कोरोना वायरस के 60 हजार 753 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इसके बाद अब देश में ऐक्टिव मामले घटकर 7 लाख 60 हजार के पास पहुंच गए हैं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending